• Home
  • यूपीः हार से BSP में हाहाकार, मायावती ने शुरू किया दिग्गजों के लिए 'घर वापसी' अभियान

यूपीः हार से BSP में हाहाकार, मायावती ने शुरू किया दिग्गजों के लिए 'घर वापसी' अभियान

उत्तरप्रदेशविधानसभाचुनावमेंबसपाकीहारनेमायावतीकोझकझोरकररखदियाहै.बसपानेअपनेसियासीइतिहासमेंसबसेखराबप्रदर्शनकियाऔरयहउसकीपांचवीहारहै.ऐसेमेंबसपाप्रमुखमायावती नएसिरेसेसंगठनकोखड़ाकरनेकीकवायदमेंहै,जिसकेलिएउन्होंनेपार्टीछोड़करदूसरेदलोंमेंजाचुकेदिग्गजनेताओंकीघरवापसीकरानेकीमुहिमशुरूकीहै.इसेबसपाकीभविष्यकीसियासीरणनीतिकेतौरपरदेखाजारहाहै.

बसपानेअपनेकॉर्डिनेटरकेजरिएउनसेसंपर्कसाधनाऔरउन्हेंलानेकीजद्दोजहदशुरूकरदीहै,जोएकसमयपार्टीकेमजबूतचेहराऔरजनाधारवालेनेतामानेजातेथे.इसीकड़ीमेंबीएसपीकॉर्डिनेटरकांग्रेसकेनेतानसीमुद्दीनसिद्दीकीसेमिलनेउनकेपासपहुंचेथे.बीएसपीकॉर्डिनेटरउन्हेंबीएसपीमेंदोबारासेवापसआनेकोलेकरबातचीतकी,लेकिनवोइसपरतैयारनहींहुए.

नसीमुद्दीनसिद्दीकीकेमुताबिकबसपाकेकईकॉर्डिनेटरोंनेउनसेमुलाकातकीहैऔरउन्हेंपार्टीमेंवापसआनेकेलिएऑफररखा,लेकिनउन्होंनेमनाकरदिया.नसीमुद्दीननेकहा,मैंकांग्रेसमेंरहूंगाऔरअबमेरेनेताराहुलगांधीऔरप्रियंकागांधीहै.

बतादेंकिनसीमुद्दीनसिद्दीकीको 2017केविधानसभाचुनावकेबादमायावतीनेपार्टीसेबाहरकारास्तादिखादियाथा,जिसकेबादउन्होंनेकांग्रेसकादामनथामलियाथा.नसीमुद्दीनने2019मेंबिजनौरसंसदीयसेकांग्रेसकेटिकटपरचुनावलड़ेथे,लेकिनजीतनातोदूरजमानतभीनहींबचासकेथे.

गुड्डूजमालीकीबसपामेंघरवापसी

बसपामेंघरवापसीकीशुरुआतपूर्वविधायकशाहआलमउर्फगुड्डूजमालीसेशुरूहोगई.बसपानेनसिर्फमुबारकपुरसेविधायकरहेगुड्डूजमालीकीपार्टीमेंवापसीकराई हैबल्किउन्हेंआजमगढ़सीटलोकसभाउपचुनावकेलिएप्रत्याशीभीघोषितकरदियाहै.आजमगढ़संसदीयसीटसेअखिलेशयादवनेइस्तीफादेदियाहै,जिसकेचलतेउपचुनावहोनेहैं.ऐसेमेंबसपानेगुड्डूजमालीपरदांवखेलकरबड़ासियासीदांवचलदियाहै.

गुड्डूजमालीबसपाकेटिकटपरसाल2012और2017मेंमुबारकपुरविधानसभासीटविधायकरहेहैं.2022चुनावसेठीकपहलेवहबसपासेनातातोड़करसपामेंचलेगएथे,लेकिनअखिलेशयादवनेउन्हेंटिकटनहींदिया.ऐसेमेंगुड्डूजमालीनेअसदुद्दीनओवैसीकीपार्टीएआईएमआईएमकेटिकटपरचुनावमेंउतरेऔर37हजारवोटहासिलकरनेमेंकामयाबरहे.बसपानेजमालीकीघरवापसीकरमुस्लिमोंकाहमदर्दहोनेकासंदेशदियाहै.

बतादेंकिबसपाकीरणनीतिहैकिमुस्लिमवदलितएकजुटसमीकरणकोबनाकरहीसपाऔरबीजेपीकेसियासीरथकोरोकसकतेहैं.कांशीरामकेदौरमेंबसपादलित-मुस्लिम-अतिपिछड़ीजातिकेगठजोड़कीहिमायतीरहीहै,लेकिनमायावतीकेदलित-ब्राह्मणकार्डचला,जिसकानतीजारहाकिमुस्लिमधीरे-धीरेसपामेंऔरअतिपिछड़ीजातियांबीजेपीमेंशिफ्टहोतेगएऔर2022केविधानसभाचुनावमेंपूरीतरहसेचलागया.

2022मेंसियासीझटकालगनेकेबादबसपाऐसेमेंएकबारफिरसेअपनेपुरानेसमीकरणपरलौटनाचाहतीहै,जिसकेलिएवोअपनेपुरानेनेताओंकीघरवापसीकाप्लानबनायाहै.मुस्लिमऔरगैरयदावओबीसीजातियोंकोदोबारासेलानेकीकवायदमेंहै.बाबूसिंहकुशवाह,स्वामीप्रसादमौर्य,नसीमुद्दीनसिद्दीकी,ओमप्रकाशराजभर,लालजीवर्मा,त्रिभवनदत्तद्ददूप्रसादजैसेकद्दावरनेताबसपाछोड़करजाचुकेहैं,जिनकेसहारेकभीमायावतीअतिपिछड़ीऔरमुस्लिमवोटोंकोअपनेसाथजोड़ेरखाथा.

वहीं,यूपीचुनावहारकेबादमायावतीनेकहाथाकिमुस्लिमसमाजनेउत्तरप्रदेशमेंबार-बारआजमाईपार्टीबसपासेज्यादासमाजवादीपार्टीपरभरोसाकरबड़ी'भारीभूल'कीहै.अगरमुस्लिमसमाजकावोटदलितसमाजकेवोटकेसाथमिलजातातोजिसतरहसेपश्चिमबंगालकेचुनावमेंतृणमूलकांग्रेस(टीएमसी)केसाथमिलकरबीजेपीकोधराशायीकरनेकाचमत्कारीपरिणामआयाथा,वैसेहीपरिणामउत्तरप्रदेशमेंभीदोहरायेजासकतेथे.इसकेसाथहीउन्होंनेदावाकियाथाकिकेवलबसपाहीउत्तरप्रदेशमेंबीजेपीकोरोकसकतीहै. ऐसेमेंअबफिरसेउसीमुहिमपरलौटनेकीकवायदमेंहै,लेकिनबसपाइसमेंकितनासफलहोगीयहतोवक्तहीबताएगा.