• Home
  • उत्तर प्रदेश में भगवा पिच पर विपक्ष, बसपा ने अयोध्या से ब्राह्मणों को जोड़ने का अभियान किया शुरू

उत्तर प्रदेश में भगवा पिच पर विपक्ष, बसपा ने अयोध्या से ब्राह्मणों को जोड़ने का अभियान किया शुरू

लखनऊ,राजूमिश्र।घरेलूपिचहमेशामददगारहोतीहैऔरयदिइसमुहावरेकोउत्तरप्रदेशकेमौजूदाराजनीतिकपरिदृश्यसेजोड़करदेखाजाएतोभाजपाराज्यकाअगलाविधानसभाचुनावघरेलूपिचपरहीलड़ेगीऔरविपक्षइसपरराजीभीहोगयालगतादिखताहै।अयोध्यामेंराममंदिरबनरहाहै।अयोध्याहीनहींकाशी,मथुरा,चित्रकूटसहितदूसरेतीर्थ-पर्यटनस्थलोंमेंभीनईसुविधाएंबनऔरपुरानीपरंपराएंजीवंतहोरहीहैं।सांस्कृतिकधरोहरेंसंवारीजारहीहैं।प्रत्यक्षयापरोक्षरूपसेयोगीसरकारविधानसभाचुनावभगवाएजेंडेकेइन्हींकार्योकोआगेरखकरलड़नेजारहीहै।यहउसकाघोषितएजेंडाभीहै।लेकिन,विपक्षइनकीकाटखोजनेकेबजायखुदभीइसीभगवापिचपरचुनावीखेलखेलनेकोआतुरदिखरहाहै।

बसपानेतासतीशचंद्रमिश्रनेबिकरूकांडकेएकआरोपितकामुकदमाखुदलड़नेकाएलानकरनेकेबादपिछलेहफ्तेब्राह्मणोंकोजोड़नेकेलिएअयोध्यासेअभियानकीशुरुआतकी।हालांकिइसकाऔपचारिकनामप्रबुद्धवर्गगोष्ठीरखागयाथा।प्रतीकवादीइसपार्टीकेमहासचिवनेट्विटरपरजोपोस्टरजारीकियाउसमेंनीलारंगतोनाममात्रथा,भगवारंगहीसर्वाधिकउभरकरआया।ब्राह्मणोंकोरिझानाउद्देश्यथा,इसलिएपरशुरामकाचित्रतोरखाहीगया,लेकिनरामललाभीबैकग्राउंडमेंनजरआएऔरमंदिरकाप्रस्तावितमाडलभी।यहीनहीं,इससेपहलेरामललाऔरहनुमानगढ़ीमेंदर्शनभीकिए।अतीतमेंतिलक,तराजूऔरतलवारकानाराइसीपार्टीकेसाथजोड़ाजातारहाहै।

रामसेदुरावकानातासमाजवादीपार्टीभीनहींरखनाचाहती।हां,वहरामकेपहलेकृष्णकोयादकरखुदकोअलगदिखानाचाहतीहै।ब्राह्मणवोटइसपार्टीकोभीचाहिए।इसलिएइसनेपहलेहीपरशुरामकीप्रतिमास्थापितकरानेकावादाकररखाहै।समाजवादीपार्टीकेमौजूदामुखियाअखिलेशयादवबीतेदिनोंचित्रकूटसहितकईमंदिरोंमेंजाचुकेहैं।

अहमबातयहहैकिसमाजवादीऔरबहुजनसमाजपार्टीजिसमुस्लिमवोटोंकेध्रुवीकरणकेबिनाकभीसत्तातकनहींपहुंचसकीं,आजकलवहइनकेमामलेमेंपूरीतरहमौनहैं।बसपामहासचिवसतीशचंद्रमिश्रएकट्वीटमेंसत्तासमीकरणयूंसमझातेहैं,‘सत्ताकीचाबीब्राह्मण13फीसदवदलित23फीसदकेहाथमेंहै।’पहलेयहपार्टीदलित,ब्राह्मणकेसाथमुस्लिमवोटोंकाप्रतिशतभीबतायाकरतीथी।समाजवादीपार्टीजिसतरहआजमखांसेमुंहफेरकरबैठीहैउसमेंभीउसकीयहीमजबूरीदिखतीहै।

कांग्रेसमतोंकागणिततोनहींसमझारही,लेकिनप्रियंकावाड्राभीअपनेदौरोंमेंमठ-मंदिरोंमेंआशीर्वादसेपरहेजनहींकररहीं।हालांकि,प्रियंकानेउत्तरप्रदेशमेंसंगठनकीगैरमौजूदगीऔरभाजपाकोहरानेकेलिएसभीसेगठबंधनकाविकल्पखुलारखकरवास्तविकताकोएकतरहसेसहजभावसेस्वीकारलियाहैकिउनकीपार्टीलड़ाईमेंहैहीनहीं।कुछराजनीतिकविश्लेषकमानरहेहैंकियहविपक्षकीभाजपाकेवोटोंमेंसेंधमारीकीरणनीतिहै,तोदूसरावर्गमानरहाहैकियहसत्तापक्षद्वाराबिछाएजालमेंविपक्षकेआसानीसेलगातारफंसतेजानेकाएकऔरप्रमाणहै।

नजीरबनसकताहैविश्वनाथधामकारिडोरकेलिएहुआसमझौता:बीतेहफ्तेकाशीकेकिनारेसेताजाहवाकाझोंकाआया।श्रीकाशीविश्वनाथधामकारिडोरकोनयाकलेवरदियाजारहाहै।इसमेंज्ञानवापीमस्जिदकेसामनेस्थित1700वर्गफीटकीजमीनआड़ेआरहीथी।यहजमीनसुन्नीवक्फबोर्डकीतरफसेअभीलीजपरमंदिरकोमिलीथी।जमीनपरपुलिसकाकंट्रोलरूमबनाथा।अबइसजमीनकामालिकानाहकमंदिरकेपासहोगा।यहसबकुछएकसमझौतेकेतहतहुआजिसमेंमंदिरप्रशासननेअंजुमनइंतजामियामसाजिदकोबांसफाटकमेंएकहजारवर्गफीटजमीनदीहै।एकतरहसेमंदिरप्रशासनऔरसुन्नीसेंट्रलवक्फबोर्डकेबीचजमीनकीअदला-बदलीहुईहै।ठीकउसीतरहजिसतरहसुप्रीमकोर्टकेफैसलेमेंअयोध्यामेंराममंदिरबनानेकेसाथहीमस्जिदकेलिएअयोध्याकीसीमासेबाहरजमीनदेनेकाआदेशदियागयाथा।विश्वनाथकारिडोरकेलिएजमीनकीअदला-बदलीकोबाकायदाकानूनीजामापहनायागयाऔरएकदूसरेकेपक्षमेंरजिस्ट्रीकीगई।

यहएकछोटीशुरुआतहै,लेकिनइसेनजीरमानकरयदिकाशीकेसमग्रविवादऔरमथुरामेंश्रीकृष्णजन्मस्थानमामलेकेनिदानकेप्रयासकिएजाएंतोअयोध्याजैसेविवादकेविकरालहोनेसेपहलेहीउचितसमाधानतकपहुंचाजासकताहै।काशीमेंज्ञानवापीऔरमथुरामेंशाहीमस्जिदकोभीइसीतरहअलगसेजमीनदेकरविवादकेसमाधानतकपहुंचाजासकताहै।हां,लेकिनयहतभीसंभवहैजबराजनीतिकदलइसमसलेपरअनावश्यकअपनीटांगनअड़ाएंऔरयहसबएकसौहार्दपूर्णप्रक्रियाकेतहतहो।

[वरिष्ठसमाचारसंपादक,उत्तरप्रदेश]