• Home
  • उत्तर प्रदेश: कोयला न मिला तो और गहरा सकता है बिजली संकट, कई पावर प्लांट में एक दिन से भी कम का कोयला

उत्तर प्रदेश: कोयला न मिला तो और गहरा सकता है बिजली संकट, कई पावर प्लांट में एक दिन से भी कम का कोयला

नईदिल्ली:यूपीकेसीएमयोगीआदित्यनाथनेकेंद्रसरकारकोचिट्ठीलिखकरकोयलेकीसप्लाईमेंकमीनहोनेदेनेकीमांगकीहै.कोयलेकीकमीकेकारणयूपीमेंबिजलीसंकटगहरानेलगाहै.देहातइलाक़ोंमेंबिजलीकटौतीसेलोगबेहालहैं.शहरोंमेंभीबिजलीकीआंखमिचौलीशुरूहोगईहै.त्योहारकेसमयऐसाहोनेसेउत्सवकीरंगफीकाहोनेलगाहै.

कोयलेकीकमीसेपैदाहुआबिजलीसंकटदशहरेतकखीचसकताहै.बिजलीउत्पादनकमहोनेकीवजहसेप्रदेशकेगांवोंमें4घंटेसे9घंटेतकबिजलीकटौतीहोरहीहै.इसकेअलावाशहरोंमेंभीअघोषितबिजलीकटौतीकीजारहीहै.मांगकेमुकाबलेपावरकॉरपोरेशनकरीब3,000मेगावाटकमबिजलीकीसप्लाईकरपारहाहै.

यूपीमेंबिजलीव्यवस्थाकादारोमदारराज्यकेअपनेचारबिजलीघरोंकेअलावानिजीक्षेत्रकेआठऔरएनटीपीसीकेकरीबडेढ़दर्जनबिजलीघरोंसेमिलनेवालीबिजलीपरहै.कोयलेकीकमीसेलगभग6873मेगावाटक्षमताकीइकाइयांयातोबंदहुईहैंयाउनकेउत्पादनमेंकमीकरनीपड़ीहै.

यूपीविद्युतउत्पादन निगमकेपावरप्लाटोंमेंअधिकतमढ़ाईदिनकाकोयलामौजूदहै.इसमेंसेकुछप्लांटऐसेहैं,जिसमेंएकदिनयाफिरएकदिनसेभीकमकोयलेकास्टॉकमौजूदहै.यानिअगरपावरप्लांटोंकोजल्दकोयलानहींमिलताहै,तोप्रदेशकेकुछऔरपावरप्लांटकोयलेकीकमीसेबंदहोसकतेहैं.सबसेकमकोयलाउत्पादननिगमकेपारीछापावरप्लांटमेंहै.कोयलेकीकमीसेउत्पादननिगमकेपावरप्लांटोंसेकरीब1100मेगावाटकमबिजलीकाउत्पादनहोरहाहै.

कोयलेकीआपूर्तिफिलहालअगलेकुछदिनतकबढ़नेकीउम्मीदनहींहै.ऐसेमेंअबमौसमकीआसहै,अगरगर्मीऔरउमसमेंकमीआतीहै,तोबिजलीकीमांगमेंगिरावटआएगी.जिससेबिजलीसंकटकुछकमहोसकताहै.जोपावरप्लांटकोयलेकीकमीसेबंदचलरहेहैं,उन्हें15अक्टूबरसेपहलेकोयलेकीपर्याप्तआपूर्तिहोनेकीउम्मीदकमहै.जोयूनिटेंबंदचलरहीहैंउससेकरीब2600मेगावाटबिजलीकाउत्पादनकमहुआहै.कोयलेकीकमीसेबंदचलरहीआठयूनिटोंमेंललितपुरकीदो,रोजाकीएक,ऊंचाहार कीएक,हरदुआगंजऔरपारीछाकीदो-दोयूनिटेंहैं.

येभीपढ़ें-

NIARaid:जम्मू-कश्मीरमेंएनआईएकीछापेमारीमेंTRFकेदोसदस्यगिरफ्तार,रचरहेथेबड़ीवारदातकीसाजिश

MaharashtraBandh:लखीमपुरखीरीहिंसाकेविरोधमेंसोमवारकोमहाविकासआघाड़ीकामहाराष्ट्रबंद,लोगोंसेसमर्थनकीअपीलकी