• Home
  • उपेक्षा से घरातल पर उतरता नहीं दिख रहा जल जीवन हरियाली अभियान

उपेक्षा से घरातल पर उतरता नहीं दिख रहा जल जीवन हरियाली अभियान

जलजीवनहरियालीअभियानकेतहतजलसंरक्षणकोलेकरसरकारपूरीगंभीरहै।लेकिनविभागीयउदासीनताकेकारणयहयोजनाधरातलपरकमऔरसरकारीफाइलोंमेंतेजीसेदौड़रहीहै।मुख्यमंत्रीनीतीशकुमारकेअतिमहत्वाकांक्षीसातनिश्चययोजनामेंजलसंरक्षणकोभीशामिलकरइसपरजोरदीजारहीहै।लेकिनप्रखंडक्षेत्रअंतर्गतपोखरएवंतालाबोंकोसमय-समयपरउराहीकेसाथरखरखावएवंजीर्णोद्धारनहींहोनेसेकईअतिप्राचीनलोकसभ्यताएवंसंस्कृतिकीधरोहरपोखर-तालाबोअपनेअस्तित्वरक्षाकेलिएसंघर्षरतदिखरहेहैं।

आश्चर्यतोयहहैकिउचितसंरक्षणकेअभावमेंकईपोखर-तालाबकचराफेंकनेवालीजगहकेरूपमेंइस्तेमालहोरहीहैं।लोगइनकेमहत्वकोभूलनेलगेहैं।गतवर्षोंमेंसरकारीफरमानजारीकरसभीपोखरएवंतालाबोंकोअतिक्रमणमुक्तकरानेकानिर्देशदियागयाथा।इसकेतहतसीओकेस्तरसेपोखर-तालाबोंकोअतिक्रमणमुक्तकरानेकोलेकरअभियानभीशुरूकियागया,लेकिनइसकाकोईसार्थकपरिणामसामनेनहींआसका।अतिक्रमणकारियोंकोअंचलकार्यालयसेनोटिसभेजकरसरकारीखानापूर्तिकरछोड़दीगई।नतीजतनअनेकपोखर-तालाबअतिक्रमणकारियोंकेकब्जेमेंअपनीदशापरआंसूबहानेकोविवशहै।अबइसकेवजूदपरभीखतराउपस्थितहै।

प्राचीनसमयमेंपोखर-तालाबोंसेहीअधिकतररूपसेफसलोंकीसिचाईहोतीथीतथामवेशीकोनहलानेकेलिएसबसेउपयुक्तजगहमानेजातेथे।पोखरएवंतालाबप्राचीनसभ्यतासंस्कृतिकीधरोहरमानीजातीथी।हिदूधर्मग्रंथोंएवंमान्यताओंकेअनुसारहिदुओंकेलिएसबसेबड़ेसूर्यउपासनाकेमहापर्वछठकोलेकरतबपोखरऔरतालाबोंकोकाफीमहत्वपूर्णमानतेहैं।जबछठपर्वकेमहीनोंपूर्वसेपोखरएवंतालाबोंकीसाफ-सफाईहोनेलगतीथीतथाछठघाटोंकानिर्माणकरतेथे।जहांसमाजकेसभीजातिकेलोगएकसाथमिलकरसामाजिकसौहार्दपूर्णमाहौलमेंछठपर्वमनायाकरतेथे।अबतोयहसिर्फबचपनकेदिनोंकोयादकरतेहुएलोगोंकेजेहनमेंहीआतीहैकिजानेकहांगएवोदिनअबतोयहगुजरेजमानेकीबातहोगईहै।लेकिनआजयहप्राचीनसभ्यतासंस्कृतिकीधरोहरकोलेकरलोगगंभीरनहींहैं।उपेक्षाकेकारणकुड़ा-कचराफेंकनेकाजगहबनगयातालाबवर्षाऋतुमेंपोखरऔरतालाबोंमेंजलजमावतोहोताहै।लेकिनउसमेंकूड़ा-कचराफेंकनेकेवजहसेउसकापानीदूषितहोजाताहै।जिससेलोगपोखरातालाबमेंजानापसंदनहींकरतेहैं।जिसकानतीजाहैकिअबपोखर-तालाबकेबदलेलोगदरवाजेपरहीअस्थायीपोखर-तालाबकानिर्माणकरछठपर्वमनायाकरतेहैं।हालांकिमनरेगायोजनाकेमाध्यमसेपोखरएवंतालाबोंकाजीर्णोद्धारकरनेकीयोजनातोहै,लेकिनउनकेजीर्णोद्धारमेंभीकमीशनखोरीकेकारणसहीढंगसेकामनहींहोपारहाहै।यहकेवलपंचायतप्रतिनिधियोंएवंसंबंधितअधिकारियोंकेलिएपैसाउगाहीकरनेकाजरियामात्रबनकररहगयाहै।महिसौरविद्यालयकेपासउपेक्षाकाशिकारबनासरकारीपोखरस्थानीयलोगोंकाकहनाहैकिक्षेत्रकेसभीपोखर-तालाबोंकोअतिक्रमणमुक्तकराकरउराहीतथासाफ-सफाईकराएजानेसेसरकारकीअतिमहत्वपूर्णयोजनाजलजीवनहरियालीकेतहतजलसंचयएवंजलप्रबंधनकासार्थकपरिणामदिखेगा।जरूरतइसबातकिहैकिइसमामलेमेंसंबंधितअधिकारीएवंसरकारीकर्मियोंकोसंवेदनशीलहोकरजनहितसेजुड़ेइसमहत्वाकांक्षीयोजनाकोधरातलपरलानेमेंसक्रियभूमिकानिभानीहोगी।फिलहालयहसिर्फफाइलोंमेंदौड़रहाहै।इसकाउदाहरणमहिसौरविद्यालयकेपासपोखरकोदेखनेसेमिलताहै।उपेक्षाकेकारणपोखरअपनेअस्तित्वरक्षाकीआसमेंहै।