• Home
  • उद्यमियों का मोह भंग, 44 लाख की सब्सिडी सरेंडर

उद्यमियों का मोह भंग, 44 लाख की सब्सिडी सरेंडर

बिजनौर,अजीतचौधरी।उद्योगोंकोबढ़ावादेनेकेलिएशुरूकीगईएकजिला-एकउत्पादयोजनासेइसबारउद्यमियोंनेमुंहमोड़लियाहै।लगातारदोसालसेकोरोनाकीमारझेलरहेउद्यमियोंनेनएउद्योगलगानेऔरपुरानोंकोबढ़ानेकेलिएकमहीआवेदनकिएहैं।योजनामेंइसबारसब्सिडीकेलिएआएबजटकाभीपूराउपयोगनहींहोपाया।इसबारजिलाउद्योगकेंद्रनेसब्सिडीकेलिएआई44लाखकीरकमशासनकोसरेंडरकरदीहै।

प्रदेशसरकारनेएकजिलाएकउत्पादयोजनामेंहरजिलेकेउसउद्योगकोशामिलकियाथा,जोसबसेअधिकरोजगारदेताहै।इसमेंनगीनाकेकाष्ठकलाउद्योगकोशामिलकरअलगसेसब्सिडीकीव्यवस्थाकीगई।विदेशोंसेऑर्डरआदिदिलानेकेलिएलखनऊमेंऔद्योगिकप्रदर्शनीक्षेत्रमेंएकस्टॉलभीदियागया।जिलेमेंकाष्ठकलाउद्योगकाटर्नओवरकरीब400करोड़रुपयेहै।योजनामेंशामिलहोनेपरउद्यमियोंकोफायदामिलाऔरउन्होंनेकारोबारबढ़ानेकेलिएलोनआदिलिए।शासनकीओरसेउद्योगोंकीस्थापनाकेलिएजारीसब्सिडीकालक्ष्यपूराहुआ,लेकिनदोसालोंसेकोरोनाकीमारकाअसरउद्योगोंपरपड़ाऔरआर्डरकममिले।टर्नओवरकमहुआतोनएउद्योगलगानेकेलिएफिलहालउद्यमियोंनेभीकिनाराकरलियाहै।

चालूवित्तीयवर्षमेंएकजिला-एकउत्पादयोजनामेंसब्सिडीमेंबांटनेकेलिए1.44करोड़रुपयाआयाथा,इसमेंसेकेवलएककरोड़हीबांटाजासका।काफीप्रयासकेबादभीबाकीरकमनहींबांटीजासकीऔर44लाखरुपयेसरेंडरकरनेपड़े।वित्तीयवर्षमेंआएकमआवेदन

2018मेंशुरूहुईयोजनामेंपहलेसाल116यूनिटकेलिएलोनपरसब्सिडीदीगईथी।2019में88यूनिटपरसब्सिडीबांटीगई,लेकिनचालूवित्तीयवर्षमेंकरीब40यूनिटकेलिएहीउद्यमियोंनेसब्सिडीमांगीथी।पात्रताकेआधारपरउद्यमियोंकोसब्सिडीदीजातीहै।रकमकेहिसाबसेमिलतीहैसब्सिडी

उद्यमियोंकोसब्सिडीराशिकेअनुसारमिलतीहै।25लाखतककेलोनपर25प्रतिशत,50लाखतककेलोनपर20प्रतिशत,डेढ़करोड़केलोनपर15प्रतिशतऔरइससेऊपरकेलोनपरदसप्रतिशतसब्सिडीदीजातीहै।जैसे-जैसेलोनकीराशिबढ़तीहै,सब्सिडीकमहोतीजातीहै।