• Home
  • तमिलनाडु: राजनीति के नए चेहरों के लिए मुश्किल है करुणानिधि-जयललिता जैसा कद बनाना

तमिलनाडु: राजनीति के नए चेहरों के लिए मुश्किल है करुणानिधि-जयललिता जैसा कद बनाना

चेन्नैडीएमकेअध्यक्षऔरदिग्गजनेताएमकरुणानिधिकेनिधनकेसाथहीतमिलनाडुकीराजनीतिकेएकयुगकानिधनहोगया।विश्लेषकोंकामाननाहैकिकरुणानिधिऔरजयललिताकेबिनातमिलनाडुकीराजनीतिअबपहलेजैसीनहींरहेगी।साथहीवहमानतेहैंकितमिलकीराजनीतिमेंदूर-दूरतकउनकेजैसानेतादेखनेकोनहींमिलता।1969मेंजबडीएमकेनिर्मातासीएनअन्नादुरईकानिधनहुआथातोउसरिक्तस्थानकीकरुणानिधिकेरूपमेंतुरंतभरपाईहोगईथी।वहतबएकजाने-मानेस्क्रिप्टराइटरथेजिन्होंनेएआईएडीएमकेकीनींवरखनेवालेएमजीरामचंद्रन(एमजीआर)कोएकअभिनेतासेराजनेताकेरूपमेंउभारनेमेंमददकीथी।अलविदा'कलाईनार'एमकरुणानिधिवहीं1987मेंएमजीआरकेनिधनकेबादकरुणानिधिकीचिरप्रतिद्वंदीजयललितानेउनकीजगहलेकरनसिर्फएआईएडीएमकेकीबागडोरसंभालीबल्कि1991,2001,2011और2016विधानसभाचुनावोंमेंपार्टीकोजीतदिलाकरमजबूतनेतृत्वकाउदाहरणपेशकिया।हालांकिपिछलेसालसेहीजयललिताकेनिधनऔरकरुणानिधिकेरिटायरमेंटकेबादतमिलनाडुकीराजनीतिकमजोरपड़नेलगीहै।दोनोंप्रमुखदलभीलड़खड़ानेलगेहैं।करुणानिधिकेनिधनकेबादहरओरशोककीलहरपढ़ें:मुझेबिनाबताएकहांचलेगए?करुणाकेनामबेटेकीचिट्ठीडीएमके-एआईएडीएमकेकाहालविश्लेषकमानतेहैंकिजनवरी2017सेकार्यकारीअध्यक्षकेरूपमेंडीएमकेकाकामकाजदेखनेरहेकरुणानिधिकेबेटेएमकेस्टालिनकेलिएफिलहालपार्टीकीबागडोरमिलनेकीराहआसानहोगईहै।लेकिनकरुणानिधिअपनेपीछेजोएकअमिटछापऔरप्रभावशालीविरासतछोड़करगएहैंउसकेआधारपरहीस्टालिनकीकार्यप्रणालीकोआंकाजाएगा।इसलिएउनपरअनैच्छिकदबावतोरहेगाही।वहींदूसरीओरएआईएडीएमकेकीनैयापार्टीकीअंदरूनीगुटबाजीऔरइसकेकईदावेदारहोनेकेचलतेपहलेहीखतरेमेंहै।सीएमपलानिसामी,डेप्युटीसीएमओपन्नीरसेल्वमऔरपार्टीकाएकअलगधड़ाबनाचुकेटीटीवीदिनकरणमेंसेकिसीकेभीपासवहकरिश्माईव्यक्तित्वनहींहै।ग्राफिक्सअबवोटनेतातयकरतेहैंराजनीतिकविश्लेषकोंकामाननाहैकिपार्टीकेनएसदस्यकरुणानिधिऔरजयललिताकीश्रेणीमेंनहींगिनेजासकतेहै,वेतोकेसस्टडीथे।विश्लेषकसुधांगननेबताया,'पहलेनेताकेनामपरवोटमिलतेथेऔरअबवोटनेताकाचेहरातयकरतेहैं।'तमिलनाडुकीराजनीतिकेखालीपननेहीदोतमिलसुपरस्टारकाइसकीओररुझानबढ़ाया।एकओरकमलहासनअपनीनईराजनीतिकपार्टी'मक्कलनीधिमैयम'कोखड़ाकरनेकेलिएकड़ीमेहनतकररहेहैंवहींदूसरीओररजनीकांतअपनेप्रंशसकोंकेआधारकापुनर्गठनकररहेहैंजोउनकीराजनीतिकपार्टीकेलिएनिर्माणखंडकाकामकरेगी।पढ़ें:बसएकबातपरराजीथेकरुणाऔरजयललिताउनकीराजनीतिकमंशायाधारणाअभीस्पष्टनहींलेकिनबीजेपीसेजुड़ेउनकेसाथीऔरसलाहकारउम्मीदबांधेहुएहैं।यहभीकहाजारहाहैकिसंघपरिवाररजनीकांतऔरएआईएडीएमकेकेपन्नीरसेल्वमकेनेतृत्ववालेधड़ेकेसाथमिलकरमहागठबंधनकीकल्पनाकररहाहै।हालांकिविश्लेषकदोनोंनएनेताओंकोलेकरनिराशामहसूसकररहेहैं।लोकप्रियहोनेकानेतृत्वक्षमतासेलेना-देनानहींसुदांगनकहतेहैं,'यहांनेतृत्वकाखालीपनहै।लोकप्रियताकालीडरशिपक्वॉलिटीसेलेना-देनानहींहै।यहएकअलगखेलशैलीहै।'वहआगेकहतेहैं,'करुणानिधिऔरजयललिताकीविचारधाराओंसेलोगसहमत-असहमतहोसकतेहैंलेकिनहमेंउनकेनेतृत्वक्षमताकीतारीफकरनीहोगीऔरयहमाननाहोगाकिउनकेजैसानेताहमेंकभीदोबारादेखनेकोनहींमिलेगा।'...और'राजकुमारी'केबादकरुणानिधिनेपीछेमुड़करनहींदेखा