• Home
  • सोमवार को अनशन करेंगे केजरीवाल, केंद्र से अहंकार छोड़कर कृषि कानूनों को रद्द करने की अपील की

सोमवार को अनशन करेंगे केजरीवाल, केंद्र से अहंकार छोड़कर कृषि कानूनों को रद्द करने की अपील की

नयीदिल्ली,13दिसंबर(भाषा)दिल्लीकेमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालनेकहाकितीननयेकृषिकानूनोंकाविरोधकररहेआंदोलनकारीकिसानोंकेआह्वानपरवहसोमवारकोदिनभरअनशनकरेंगेऔरउन्होंनेभाजपानीतकेंद्रसरकारसे‘‘अहंकार’’छोड़करकानूनोंकोरद्दकरनेकीअपीलकी।मुख्यमंत्रीनेडिजिटलसंवाददातासम्मेलनकोसंबोधितकरतेहुएकहाकिकृषिउत्पादोंकेन्यूनतमसमर्थनमूल्य(एमएसपी)कीगारंटीकीखातिरकेंद्रसरकारएकविधेयकलाए।केजरीवालनेकहाकिआंदोलनकारीकिसानोंकीअपीलकेमुताबिकसोमवारकोवहएकदिवसीयअनशनकरेंगेऔरआमआदमीपार्टी(आप)केकार्यकर्ताओंऔरदेशकेलोगोंसेइसमेंशामिलहोनेकीअपीलकी।उन्होंनेकहा,‘‘मैंकेंद्रसरकारसेअपीलकरनाचाहताहूंकिअपनेअहंकारकोछोड़ें।जनतासरकारबनातीहैनकिसरकारजनताकोबनातीहै।तीनोंकृषिकानूनोंकोतुरंतवापसलियाजानाचाहिएऔरकिसानोंकोएमएसपीकीगारंटीदेनेवालाविधेयकलायाजानाचाहिए।’’मुख्यमंत्रीनेकहाकिकेंद्रकोजल्दसेजल्दकिसानोंकीसभीमांगोंकोस्वीकारकरनाचाहिए,जोपिछलेदोहफ्तेसेदिल्लीकीसीमाओंपरप्रदर्शनकररहेहैं।केजरीवालनेनाखुशीजताईकिकेंद्रसरकारकेकुछनेताऔरभाजपानेताप्रदर्शनकारीकिसानोंको‘‘गद्दारऔरदेशद्रोही’’बतारहेहैं।उन्होंनेकहा,‘‘मैंउनसेपूछनाचाहताहूंकिइतनीसंख्यामेंपूर्वसैनिक,राष्ट्रीयएवंअंतरराष्ट्रीयखिलाड़ीऔरहस्तियां,वकीलऔरव्यवसायीउनकासमर्थनकररहेहैंऔरउनकेसाथप्रदर्शनमेंशामिलहोरहेहैंतोक्यासभीदेशद्रोहीहैं?’’केजरीवालनेकिसानोंकेप्रदर्शनको‘‘बदनाम’’करनेकीतुलनाअन्नाहजारेकेआंदोलनसेकीजिसमेंवहशीर्षनेताथे।उन्होंनेकहा,‘‘मैंसहयोगनहींकरसकतालेकिनअन्नाहजारेजीकेआंदोलनकेदिनोंकास्मरणकरताहूं।कांग्रेससरकारनेहमेंदेशद्रोहीकेतौरपरबदनामकिया।कांग्रेसनेजोहमारेआंदोलनकेसाथकिया,भाजपावहींकिसानआंदोलनकेसाथकररहीहै।’’मुख्यमंत्रीनेदावाकियाकियहांतककिमध्यम-ऊपरीतबकेकेलोगकृषिकानूनोंकेखिलाफहैंऔरउनकामाननाहैकिइससेमूल्योंमेंबढ़ोतरीहोगी।उन्होंनेकहा,‘‘देशमेंअभीतकजमाखोरीअपराधथालेकिनकेंद्रकेनयेकृषिकानूनोंकेतहतकोईभीव्यक्तिकितनाभीअनाजजमाकरसकताहैऔरइसेअबअपराधनहींमानाजाएगा।’’उन्होंनेकहा,‘‘इसकायहभीमतलबहैकिअबमूल्योंमेंकाफीबढ़ोतरीहोगी।लोगहरवर्षतबतकजमाकरेंगेजबतकमहंगाईदरदोगुनीनहींहोजाए।उदाहरणकेलिएगेहूंइसवर्ष20रुपयेसेबढ़करअगलेवर्ष40रुपयेहोजाएगाऔरफिर80रुपयेऔर160रुपयेऔरफिरइसीतरहबढ़ताजाएगा।’’गौरतलबहैकिकेंद्रसरकारजहांतीनोंकृषिकानूनोंकोकृषिक्षेत्रमेंबड़ेसुधारकेतौरपरपेशकररहीहै,वहींप्रदर्शनकारीकिसानोंनेआशंकाजताईहैकिनयेकानूनोंसेएमएसपीऔरमंडीव्यवस्थाखत्महोजाएगीऔरऔरवेबड़ेकॉरपोरेटकीदयापरनिर्भरहोजाएंगे।