• Home
  • सदर अस्पताल व रिम्स के अलावा सीएचसी में भी मिल रहा मरीजों को आयुष्मान योजना का लाभ

सदर अस्पताल व रिम्स के अलावा सीएचसी में भी मिल रहा मरीजों को आयुष्मान योजना का लाभ

अमनमिश्रा,रांची:

झारखंडकीराजधानीरांचीमें23सितंबर2018कोप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीद्वाराप्रधानमंत्रीजनआरोग्ययोजनाआयुष्मानभारतकीशुरुआतकीथी।राज्यकेहरबीपीएलपरिवारोंकोइससेजोड़नेकीबातथी।सभीकोइलाजकेलिएसरकारद्वाराइसकेतहत5लाखकाकवरेजदियागया।योजनाशुरूहोनेकेबादसेअबतकराजधानीकेअस्पतालोंमेंकरीब55हजारपरिवारोंकोइसकालाभमिलचुकाहै।सदरअस्पतालमेंहीतीनसालोंमें19,240मरीजोंकानामांकनहुआ,जबकिपूर्णइलाजकेबादकरीब6करोड़40लाखरुपएअस्पतालकेखातेमेंआभीगए।सिर्फशहरकेबड़ेअस्पतालहीनहींग्रामीणक्षेत्रोंकेसीएचसीकोभीइससेजोड़ागया।लोगशहरकेअस्पतालआनेमेंसमर्थनहींथेतोआयुष्मानकाकवरेजगांवतकसरकारद्वारापहुंचायागया।आयुष्मानभारतकेजिलाप्रोग्रामको-ऑर्डिनेटरआशीषकुमारनेबतायाकिकईबारलोगबीमारहोतेहैंऔरसीएचसीमेंपहुंचजातेहैं।जहांदवाएंनहींभीहोतीहैं,ऐसेमेंवहांमरीजकोभर्तीकरउसेआयुष्मानयोजनाकेतहतजरूरतकीसारीदवाएंनिश्शुल्कदीजातीहै।उन्होंनेबतायाकिजिलेमेंकुल18प्रखंडहै,10सेअधिकसीएचसीमेंयोजनाकेतहत30से50लाखतककारीइम्बर्समेंटहोचुकाहै।आशीषकुमारनेबतायाकिकोशिशकीजारहीहैकियोजनाकेद्वाराजोभीफंडअस्पतालयासीएचसीमेंआरहीहैउससेवहांकीसुविधाएंबढ़ाईजाएंताकिमरीजोंकोसमुचितइलाजमिलसके।

निजीअस्पतालअबभीआयुष्मानकेमरीजकोभर्तीलेनेमेंकरतेहैआनाकानी

शहरकेअधिकांशनिजीअस्पतालआयुष्मानभारतयोजनासेजुड़ेहैं।बीमारीकेअनुसारउचितपैकेजयोजनाकेतहतनिर्धारितहै,बावजूदकईबारमरीजोंकोनिजीअस्पतालसेलौटादियाजाताहै।शनिवारकोरातूरोडकारहनेवालाएकमरीजकन्हैयासिंहकिडनीकीसमस्याकोलेकरमांरामप्यारीअस्पतालपहुंचा।जहांअस्पतालप्रबंधननेसाफतौरपरमनाकरदिया।यहीनहींउसेअस्पतालप्रबंधन30हजारहरदिनकेहिसाबसेशुल्ककाविवरणसमझनेलगे।मरीजगरीबपरिवारकाहोनेकेकारणवहांसेरिम्सचलाआया।फिलहालआयुष्मानभारतयोजनाकेतहतउसकाइलाजचलरहाहै।इधर,देवकमलअस्पताल,राजअस्पताल,गुरुनानकअस्पतालमेंभीअक्सरआयुष्मानयोजनाकोलेकरलापरवाहीकीबातसामनेआतीहै।

बुंडूऔरबेडोसीएचसीमेंसुविधाओकीकमी,नहींपहुंचरहेमरीज

ग्रामीणक्षेत्रोंमेंसीएचसीमेंआयुष्मानभारतयोजनाकालाभमरीजोंकोदियाजारहाहै।बाकीसीएचसीमेंतोठीकहैलेकिनबेडोऔरबुंडूसीएचसीमेंसुविधाओंकीकमीहै।जिसवजहसेदोनोंसेंटरआयुष्मानमेंभीपूछेचलरहाहै।यहांचिकित्सकभीसमयनहींदेतेहैजिसवजहसेमरीजोंकानामांकनतककमहै।बेडोसीएचसीमेंयोजनाशुरूहोनेकेबादसेमहज155औरबुंडूमें180मरीजोंकोहीयोजनाकालाभमिलाहै।वहींदोनोंसीएचसीमेंकरीब5लाखहीपौसोकीवापसीहुईहै।वहींसर्वाधिकरातूसीएचसीमें50लाख,ओरमांझीमें46लाख,डोरंडाडिस्पेंसरीमें44लाखऔरबाकीसीएचसीमेंभी25से30लाखतककीवापसीहुईहै।रिम्समेंपिछलेढाईसालोंमेंकरीब4करोड़योजनाकेतहतमिलाहै।

किसअस्पतालमेंआयुष्मानभारतयोजनाकेतहतकितनेगएरजिस्ट्रेशन(23सितंबर2018सेअबतक)

अस्पताल-मरीजोंकारजिस्ट्रेशन

सदरअस्पताल-19,240

सीएचसीओरमांझी-1090

सीएचसीसिल्ली-782

सीएचसीकांके-766

सीएचसीअनगड़ा-698

स्टेटडोरंडाडिस्पेंसरी-549

सीएचसीनामकुम-397

सीएचसीसोनाहातू-396

कम्युनिटीहैल्थसेंटरलापुंग-390

सीएचसीचान्हो-389

सीएचसीमांडर-341

सीएचसीबुढ़मू-333

सीएचसीबुंडू-180

टीबीसेनेटोरियम,इटकी-0------

आयुष्मानभारतयोजनागरीबोंकेलिएवरदानसाबितहोरहीहै।हमेशाअस्पतालोंमेंइसकेलाभबढ़ानेकोलेकरप्रयासकीजारहीहैताकिसरकारीअस्पतालोंकेसाथसाथमरीजोंकोनिजीअस्पतालोंमेंभीइसकाबेहतरलाभमिलसके।कईबारशिकायतमिलतीहैकिकुछअस्पतालोंमेंविशेषबीमारी,जिसकाकवरेजआयुष्मानयोजनामेंपहलेसेनिर्धारितहैबावजूदउसकालाभनहींमिलपाता।शिकायतकेबादअबवैसेअस्पतालोंपरकार्रवाईभीकीजाएगी।सरकारीसीएचसीवअस्पतालोंमेंभीसुविधाएंबढ़ाईजारहीहै।

-डा.वीबीप्रसाद,सिविलसर्जन।