• Home
  • 'रामायण' का राजनीतिक कनेक्शन, जब एक ही पार्टी के सांसद बने 'सीता' और 'रावण'

'रामायण' का राजनीतिक कनेक्शन, जब एक ही पार्टी के सांसद बने 'सीता' और 'रावण'

नईदिल्ली,जेएनएन।दूरदर्शनपरगोल्डनएजशो'रामायण'कीवापसीहुई।रामानंदसागरकेइससीरियलकोइसवक्तजबरदस्तटीआरपीमिलरहीहै।लेकिनयहपहलीबारनहींहैं,जबइसेइतनीसुर्खियांमिलीहों।बीबीसीमेंछपीएकरिपोर्टकेमुताबिक,उसदौरमेंजबभारतमेंटीवीकाविस्तारहोरहाथा,तबइससीरियलकोदेखनेवालोंकीसंख्या10करोड़थी।उसदौरमेंइतनाक्रेजथाकिलोगोंकेलिएरामायणमेंकिरदारनिभानेवालेएक्टरपूजनीयहोगए।

'रामायण'केइनकिरदारोंकाराजनीतिसेभीकनेक्शनहै।ऐसाकोईपहलीबारनहींहै,जबपर्देपरआनेवालेएक्टरलोगोंकेबीचअपनेलिएवोटमांगनेजाए।सिनेमाजगतऔरराजनीतिकाअपनापुरानारिश्ताहै।रामायणकेफेमसएक्टर्सभीअपनीकिस्मतचुनावमेंआजमाचुकेहैं।

जबएकपार्टीसेसांसदबने'सीता'और'रावण'

साल1991केआमचुनावमेंरामायणकेदोएक्टरदीपिकाचिखलिया(सीता)औरअरविंदत्रिवेदी(रावण)गुजरातकेचुनावीमैदानमेंउतरे।दोनोंकोहीभारतीयजनतापार्टीनेअपनाउम्मीदवारबनाया।अरविंद,साबरकांठासीटऔरदीपिकाचिखलिया,बड़ौदालोकसभासीटसेचुनावजीतकरसंसदपहुंचे।दीपिकानेहालहीमेंएकतस्वीरभीशेयरकी,जिसमेंवहप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीऔरभाजपानेतालालकृष्णआडवाणीकेसाथचुनावप्रचारमेंनज़रआरहीहैं।दीपिकानेइसचुनावमें276,038मतहासिलकियेथे,जबकिउनकेविरोधीकांग्रेसकेउम्मीदवारको241,850वोटमिलेथे।

क्याकांग्रेससेचुनावलड़नाचाहतेथेअरुणगोविल(राम)

रामानंदसागरकीरामायणमेंअरुणगोविलनेरामकाकिरदारनिभायाथा।एकसमयउनकीजबरदस्तफैनफॉलोइंगभीथी।इसकाफायदाकांग्रेसउठानाचाहतीथी।इंडियाटुडेमेंसाल1988मेंछपीएकरिपोर्टकेमुताबिक,कांग्रेसनेअरुणगोविलकोपार्टीमेंशामिलकियाथा।हालांकि,वहअपनीछविकेचलतेकभीचुनावनहींलड़े।टाइम्सऑफ़इंडियामेंछपीरिपोर्टकेमुताबिक,कांग्रेसपार्टीउन्हेंइंदौरसेटिकटदेनाचाहतीथी।हालांकि,ऐसाकुछहुआनहीं।

इसेभीपढ़ें-Ramayanकीअभूतपूर्वसफलताकेबाददूरदर्शननेलांचकियानयाचैनलडीडीरेट्रो,इनधारावाहिकोंकाप्रसारण

राज्यसभापहुंचेदारासिंह(हनुमान)

हनुमानकाकिरदारनिभानेवालेदारासिंहभीराजनीतिकेगलियारोंमेंनज़रआए।इंडियाटुडे कीरिपोर्टकेमुताबिक,अरुणगोविलकेसाथदारासिंहकोभीपार्टीमेंलायागयाथा।हालांकि,बादमेंदारासिंहभाजपाकेसाथजुड़गए।साल2003से2009तकवहराज्यसभाकेनामितसदस्यरहे।