• Home
  • नहीं रहे सपा नेता डॉ. केपी यादव, वैज्ञानिक से राजनीति तक का सफर किया तय; वाराणसी में नहीं उतरने दिए थे मायावती का हेलीकॉप्टर

नहीं रहे सपा नेता डॉ. केपी यादव, वैज्ञानिक से राजनीति तक का सफर किया तय; वाराणसी में नहीं उतरने दिए थे मायावती का हेलीकॉप्टर

वाराणसीऔरआसपासकेजिलोंमेंडेंगूकहरबरपानेलगाहै।एककेबादएकमौतलोगोंकोडरानेलगीहैं।अबडेंगूकेशिकारसमाजवादीपार्टीकेनेताऔरउत्तरप्रदेशगोसेवाआयोगकेपूर्वअध्यक्षडॉ.केपीयादवहुएहैं।मंगलवारकीसुबहमेदांताहॉस्पिटलमेंडेंगूसेउनकीमौतहोगई।5दिनपहलेडेंगूकेकारणतबीयतबिगड़नेपरउन्हेंवाराणसीकेएपेक्सहॉस्पिटलमेंभर्तीकरायागयाथा।

2दिनपहलेप्लेटलेट्सकालेवलज्यादानीचेआगयातोसपाकेराष्ट्रीयअध्यक्षअखिलेशयादवनेउन्हेंलखनऊमेदांताहॉस्पिटलमेंभर्तीकरायाथा,लेकिनउनकीजाननहींबचसकी।सपाअध्यक्षसहितसभीराजनीतिकदलोंकेनेताओंनेउनकीमौतपरदुखजतायाहै।

90केदशकमेंशुरूहुआराजनैतिककैरियर

केपीयादवकाराजनीतिककरियर90कीदशकमेंBHUयेशुरूहुआजबवेसिरामिकइंजीनियरिंगविभागमेंशोधकररहेथे।उन्होंनेकलकारखानोंसेनिकलनेवालेदूषितपानीकोरिफाइनकरकेपेयजलमेंबदलनेपरकाफीशोधकार्यकियाथा।वहींदेश-विदेशकेजर्नलमेंकुल25शोधपत्रभीप्रकाशितहोचुकेहैं।पानीशुद्धकरनेकीतकनीककोदेखतेहुए1992मेंइन्हेंअमेरिकाकीयूनिवर्सिटीऑफइलूनॉइज(पूर्वअमेरिकीराष्ट्रपतिबराकओबामाउससमययहांप्रोफेसरहुआकरतेथे)से1800डालरप्रतिमाहकेपैकेजपरबुलायाभीआया,मगरउन्होंनेराजनीतिकीराहचुनीऔरमुलायमसिंहयादवकेसाथजुड़गए।

36बारगिरफ्तारहुए,12बारजेलगए

डॉ.केपीयादवनेसमाजवादीपार्टीसेजुड़करजनताकेहितमेंलगातारआवाजउठाई।राजनीतिकजीवनमेंवह36बारगिरफ्तारहुएऔर12बारजेलगए।1988मेंजबकरियरउफानपरथातबपार्टीकेकुछलोंगोंनेबदमाशोंकोसुपारीदेकरहमलाभीकरायाऔरउसदौरानकेपीयादवकोचारगोलीलगीथी।लेकिन,इसकेबावजूदवहबचगएऔरराजनीतिमेंसक्रियरहे।वहजौनपुरलोकसभाकेप्रत्याशीभीथे।वहीं,उन्हेंएकबारपार्टीविरोधीगतिविधियोंमेंलिप्तहोनेकेकारणसपासेबाहरकारास्तादिखायागयाथा।

BHUसेशुरूहुआराजनीतिकसफर

डॉ.केपीयादवकाजन्मजौनपुरजिलेकेउतरगांवामेंएकसामान्यपरिवारमेंहुआथा।उन्होंनेवाराणसीकीबृजइंक्लेवकॉलोनीमेंमकानबनवारखाहै।वाराणसीसेजौनपुरआना-जानाउनकालगाहीरहताथा।12वींतककीशिक्षाउन्होंनेजौनपुरसेहीली।इसकेबादगोरखपुरविश्वविधालयसेकेमेस्ट्रीमेंग्रेजुएशनकीडिग्रीहासिलकरनेकेबादBHUमेंउन्होंनेपढ़ाईशुरूकी।उसीदौरान1986मेंमुलायमसिंहकीक्रांतिरथयात्रामेंशामिलहुएऔरसमाजवादीपार्टीसेजुड़गएऔरसाथमेंउनकीपढाईभीचलतीरही।

इसकेबादवहबीएचयूमेंसिरामिकइंजीनयरिंगमेंरिर्सचएसोसिएटहोगए।1993मेंउन्हेंबीएचयूमेंयुवजनसभाकाअध्यक्षबनायागया।इसकेबादकईप्रदेशोंमेंपार्टीकेगठनकीजिम्मेदारीभीमिली।1997मेंसपा-बसपागठबंधनटूटनेकेबादपूर्वमुख्यमंत्रीमायावतीबनारसकेसीरगोवर्धनगांवमेंरविदासपार्ककाशिलान्यासकरनेआरहींथी।इसकेविरोधकामोर्चाकेपीयादवनेसंभालाथाऔरबसपासुप्रीमोमायावतीकाहेलीकॉप्टरउतरनेहीनहींदियाथा।इसविरोधसेपार्टीमेंउनकाकदकाफीबढ़गयाथा।

बनारसमेंडेंगूके78मरीजहुए

बनारसमेंसोमवारकीरात11लोगडेंगूकेसंदिग्धपाएगएहैं।हालांकिएलाइजारिपोर्टआनेकेबादहीउन्हेंडेंगूपीड़ितमानाजाएगा।बनारसमेंअबतकडेंगूके78मरीजसामनेआचुकेहैं,जिनमेंसे3कीमौतहोगईहै।डेंगूसेपहलेएकएनएस-1जांचहोतीहैजिसमें758मरीजोंकीरिपोर्टपॉजिटिवहै।स्वास्थ्यविभागकेअधिकारियोंनेबतायाहैकिबाढ़ग्रस्तइलाकोंसहितBHU,लंका,नंगवा,सीरगोवर्धन,नरियाआदिक्षेत्रोंमेंदवाओंकावितरणऔरएंटीलार्वाकाछिड़कावजारीहै।