• Home
  • नौकरी पक्की होने की खुशी तो दोनों बाजू खोने का गम

नौकरी पक्की होने की खुशी तो दोनों बाजू खोने का गम

जुगलमंगोत्रा,पौनी:

पिछले20वर्षोसेबिजलीविभागमेंसेवादेनेपरपक्कीनौकरीकाख्वाबदेखनेवालेअस्थायीकर्मचारीखजूरसिंहकोसरकारनेस्थायीकरदियाहै,लेकिनजिन20वर्षोसेवहस्थायीहोनेकाख्वाबदेखरहाथा,वहतबपूराहुआजबउसनेअपनेदोनोंबाजूखोदिएहैं।

रियासीजिलेकीतहसीलपौनीकेरनसूक्षेत्रमेंबिजलीविभागमेंतैनातखजूरसिंहगतदिनोंबिजलीकाकरंटलगनेसेझुलसगयाथा।उपचारकेदौरानउसकेदोनोंबाजूकाटनेपड़े।सरकारनेअबउसेस्थायीभीकरदियाहै,लेकिनउसेस्थायीहोनेकीखुशीकेसाथ-साथअपनेदोनोंबाजूखोजानेकागमभीहै।दैनिकजागरणकेसाथबातचीतकरतेहुएखजूरसिंहकीआंखोंसेकईबारआंसूछलके।उसनेबतायाकिपिछले20वर्षोसेबिजलीविभागमेंअस्थायीरूपसेकामकररहाहूं।महाशिवरात्रिमेलेसेपूर्वएकट्रांसफार्मरकीमरम्मतकरतेसमयउसेबिजलीकाकरंटलगगयाथा,जिससेवहबुरीतरहझुलसगया।उपचारकेदौरानउसकेदोनोंबाजूकाटनेपड़े।खजूरसिंहनेकहाकिवहसरकारकाआभारीहैकिउसे20वर्षबादपक्कीनौकरीकातोहफादियाहै,लेकिनदोनोंबाजूचलेजानेकागमभीहै।उसनेविभागमेंकामकरनेवालेअन्यकर्मियोंकोसंदेशदेतेहुएकहाहैकिबिजलीसेजुड़ेकिसीभीकामकोकरतेसमयअपनापूराध्यानरखें।विभागकेकर्मियोंकाआपसमेंतालमेलहोनाचाहिए।शटडाउनकेबारेमेंअपनेअधिकारियोंकोभीजानकारीदेनीचाहिए,ताकिजोउसकेसाथहुआहैवहभविष्यमेंकिसीऔरबिजलीकर्मीकेसाथनहो।

गौरतलबहैकि25फरवरीकोमहाशिवरात्रिमेलेकेपूर्वरनसूक्षेत्रमेंखजूरसिंह(45)पुत्रबक्शीरामनिवासीखोड़ी,संगड़ट्रांसफार्मरकीमरम्मतकररहाथा।इसदौरानपीछेसेट्रांसफार्मरमेंबिजलीआनेपरउसेजोरदारकरंटलगगया,जिससेवहगंभीररूपसेझुलसगयाथा।उसेचारबारलगचुकाहैकरंट

खजूरसिंहकोचारबारबिजलीकाकरंटलगाहै।वहहरबारउपचारकरानेकेबादस्वस्थहोजाताथा,लेकिनइसबारबिजलीकाकरंटइतनाअधिकलगाकिउसकेदोनोंबाजूचलेगएहैं।चारबारकरंटलगनेकेबावजूदवहअपनीहिम्मतनहींहारेहैंऔरविभागमेंलगातारसेवादेनेकेलिएतत्पररहनेकीबातकहरहेहैं।

खजूरसिंहकेपुत्ररविद्रसिंहनेबतायाकिवहसेनामेंतैनातहै।पिताकेझुलसजानेकेबादमिलिट्रीहास्पिटलसतवारी,जम्मूमेंइलाजकरवाया।सरकारीअस्पतालमेंपिताकाइलाजसहीतरहसेनहींहोपारहाथा।उन्होंनेबतायाकिपिताकेदोनोंबाजूकटगएहैं,लेकिनइलाजकेलिएबिजलीविभागसेजितनेसहयोगकीउम्मीदथी,उतनीउनकेद्वारानहींकीगईहै।विभागकीतरफसेपिताकीइलाजकेलिएहरसंभवमददकीजानीचाहिए।सरकारनेहालहीमेंबिजलीविभागकेअस्थायीकर्मियोंकीएकसूचीनिकालीहै,जिसमेंखजूरसिंहकोस्थायीकरदियागयाहै।विभागकीतरफसेखजूरसिंहकोहरसंभवसहायतामुहैयाकरवाईजाएगी।इसकेअलावाउसेकरंटकैसेलगा,इसकीजांचभीकीजारहीहै।

-सुनीलदत्तपंडोह,एक्सईएन,बिजलीविभागरियासी