• Home
  • नौ धान अधिप्राप्ति केंद्रों में आठ बंद, बिचौलियों को धान बेचने पर मजबूर किसान

नौ धान अधिप्राप्ति केंद्रों में आठ बंद, बिचौलियों को धान बेचने पर मजबूर किसान

खूंटी:बदहालकिसानोंकीदशावदिशाकोसुधारनेकेलिएप्रदेशसरकारगंभीरनहींहै।दिल्लीकेबार्डरमेंबैठेकिसानोंकेगममेंआंसूबहारहेनेताओंकोतनिकराज्यकेकिसानोंकाभीफिक्रकरनाचाहिए।खूंटीजिलेकेकईधानक्रयकेंद्रपिछले15दिनोंसेबंदपड़ेहैं।गोदामधानकीबोरियोंसेभरेपड़ेहैं।किसानधाननहींबेचपानेसेपरेशानहै।मजबूरनकिसानोंकोव्यवसायियोंकेहाथोंऔने-पौनेदामोंमेंमेहनतसेउपजाएधानकोबेचनापड़रहाहै।जिलेमेंकिसानोंसेसरकारीसमर्थनमूल्यपरधानअधिप्राप्तिकेलिएकुलनौक्रयकेंद्रखोलागयाहै।इनमेंसेफिलहालआठबंदपड़ेहैं।कारणगोदामधानसेभरेहुएहैं।धानरखनेकेलिएजगहनहींरहनेकेकारणअभीधानकीखरीदारीबंदहै।सरकारीक्रयकेंद्रोंमेंधानकीखरीदारीबंदहोजानेसेकिसानोंकोपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।इसस्थितिसेलाचारकिसानअपनेपसीनेकीउपजकोबिचौलियोंकेहाथोंऔने-पौनेदामोंमेंबेचनेकोमजबूरहोरहेहैं।जानकारीकेअनुसारजिलामुख्यालयस्थितखूंटीलैम्पससहिततोरपा,मुरहू,कर्रा,रनिया,अड़की,गोविदपुरऔरअंबापखनाकेसरकारीधानक्रयकेंद्रोंकागोदामखरीदेगएधानसेभरगयाहै।इनगोदामोंमेंधानरखनेकीजगहबचीनहींहै।यहीकारणहैकिइनकेंद्रोंमेंधानकीखरीदारीबंदकरदीगईहै।वर्तमानमेंसिर्फसरगेयाक्रयकेंद्रमेंधानकीखरीदारीकीजारहीहै।

बतायाजारहाहैकिजबतकखरीदेगएधानकाउठावनहींहोजाताहै,तबतकनएसिरेसेधानकीखरीदारीशुरूनहींकीजाएगी।इससंबंधमेंपड़तालकरनेपरपताचलाकिधानउठावकीप्रक्रियासरलनहींहोनेकेकारणगोदामोंसेधानउठावमेंदेरहोरहीहै।इसवर्षजिलामेंधानखरीदनेकेलिए4162किसानोंनेअपनापंजीकरणकरायाहै।इनमेंसेअबतकमात्र366किसानोंनेहीधानबेचाहै।

क्याकहतेहैंकिसान

किसानोंकाकहनाहैकिधानक्रयकेंद्रकेवलदिखानेकेलिएहै।छोटेकिसानकेंद्रकेकभीअपनाधाननहींबेचपातेहैं।किसानोंकेनामपरबिचौलिएहीकेंद्रमेंधानबेचदेतेहैं।

कईबारधानक्रयकेंद्रजानेपरकेंद्रबंदमिला।बंदगोदामदेखकरनिराशहोकरघरवापसआजातेहै।परिवारमेंआवश्यककार्योकेलिएरुपयोंकीजरूरतथी।ऐसेमेंमजबूरनव्यवसायियोंकेपासधानबेचनापड़ा।व्यवसायी13रुपयेप्रतिकिलोंकीदरसेधानखरीदतेहैं।

-सबलसिंह,किसान,धोबीसोसो,तोरपा

पिछलेबारजबहमनेधानबेचीतोकईदिनोंकेबादपैसामिलाथा।कईअन्यकिसानऐसेभीहैं,जिनकोधानबेचनेकेबादअबतकएसकामूल्यनहींमिला।पैसेकीजरूरतहोतीहै,इसलिएधानकोबाजारमेंजल्दीबेचदेतेहै,जहांहाथोंहाथपैसामिलजाताहै।

-बालेश्वरगोप,कोटेनगसेरा

धानबेचनेकेलिएमोबाइलपरमैसेजआयाथा।धानलेकरकईबारक्रयकेंद्रपरगए,केंद्रबंदमिला।बतायागयाकिगोदामधानसेभरेपड़ेहैंअबधानकीखरीदारीनहींहोरहीहै।ऐसेमेंवापसीकेदौरानव्यवसायियोंकेहाथों13रुपयेकीदरसेधानबेचदिए।

-नंदकिशोरमहतो,टाटीटुराटोली

क्याकहतेहैंपदाधिकारी

जिलेमेंइसवर्षनौधानक्रयकेंद्रोंमें50हजारक्विटलधानखरीदनेकालक्ष्यनिर्धारितकियागयाथा।लक्ष्यकेअनुरूपअबतक366किसानोंसेसाढे़11हजारक्विटलधानकीखरीदारीकीगईहै,जोनिर्धारितलक्ष्यकालगभग23प्रतिशतहै।केंद्रोंमेंधानबेचनेवालेअधिकांशकिसानोंकोधानबेचनेकेएकसप्ताहकेअंदरमूल्यकापचारप्रतिशतराशिकाभुगतानउनकेबैंकएकाउंटमेंकरदियागयाहै।शेषबचेराशिकाभुगतानधानउठाओहोनेकेबादकियाजाएगा।जिलाकेगोदामोंमेंभरेपड़ेधानकोउठवानेकाप्रयासकियाजारहाहै।जल्दहीइनगोदामोंसेधानकाउठावकरलियाजाएगा।धानउठावहोनेकेबादफिरसेइनकेंद्रोंमेंधानकीखरीदारीशुरूहोजाएगी।

-कनक,जिलाआपूर्तिपदाधिकारी