• Home
  • मुजफ्फरनगर दंगों पर मुखर क्यों नहीं हैं मायावती!

मुजफ्फरनगर दंगों पर मुखर क्यों नहीं हैं मायावती!

यूपीकेपश्चिमीजिलोंमेंदलितोंऔरमुस्लिमोंकाखासासमर्थनपानेवालीबहुजनसमाजपार्टी(बीएसपी)कीअध्यक्षमुजफ्फरनगरदंगोंकेबादसेबेहदखामोशहैं.मुजफ्फरनगरदंगेमेंदलितऔरमुसलमानआमने-सामनेआखड़ेहुएहैंऔरइनपरिस्थितियोंमेंमायावतीकोदोनोंकोएकसाथसाधपानाकाफीमुश्किलहोरहाहै.

मायावतीनेअपनीराजनीतिकीशुरुआतपश्चिमीयूपीकेमुजफ्फरनगर,बिजनौरजैसेजिलोंसेहीकीथी.गौतमबुद्घनगरकेबादलपुरमेंउनकागांवहै.मायावतीकीपार्टीकेएकसांसदऔरदोविधायकोंपरदंगाभड़कानेकेआरोपमेंएफआईआरहै.इसकेबावजूदनतोमायावतीऔरनहीउनकीपार्टीकेकिसीबड़ेनेतानेमुजफ्फरनगरकारुखकिया.पिछलेसालसपासरकारबननेकेबादयहपहलामौकाहैजबबीएसपीकाआक्रामकरुखहवाहोगयाहैऔरवहवर्तमानमेंसूबेकेराजनीतिकपटलसेगायबसीदिखरहीहै,वहभीतबजबमामलादलितऔरपार्टीकेनेताओंसेजुड़ाहो.

बीएसपीकेलिएइधरकुआंऔरउधरखाई

अपनेसांसदकादिरराणा,विधायकनूरसलीमराणा औरजमीलअहमदकासमीकेखिलाफएफआइआरदर्जहोनेकेबावजूदबीएसपीकाविरोधप्रतीकात्मकहीरहा.पार्टीनेइसेबीजेपीकीतरहमुद्दानहींबनाया.राजनीतिकविश्लेषकसुरेंद्रराजपूतकहतेहैंकिबीएसपीकेलिएइधरकुआंऔरउधरखाईवालेहालातपैदाहोगएहैं.

अगरपार्टीअपनेमुस्लिमविधायकोंऔरसांसदोंकेसाथखड़ीहोतीहैतोउसकापरंपरागतदलितवोटबैंकखिसकसकताहै.अगरइनकाविरोधकरतीहैतोवहमुस्लिमवोटबैंकनाराजहोसकताहैजोदलितकेसाथजुडक़रबीएसपीकोपश्चिमीयूपीमेंएकमजबूतताकतबनाताहै.

अपनेआपहोगाफायदा

राजपूतकहतेहैं‘दंगेकेबादयूपीमेंपैदाहालातमेंमायावती‘नकाहूसेदोस्ती,नकाहूसेदुश्मनी’कीतर्जपरराजनीतिकररहीहैं.’बीएसपीकेएकजोनलकोआर्डिनेटरबतातेहैंकिसपासरकारकेखिलाफजोनाराजगीहैउसकापूराफायदापार्टीकोहीमिलेगाक्योंकिलोगोंकेसामनेफिलहालबीएसपीहीएकमात्रविकल्पहै,ऐसेमेंज्यादाहाथपांवमारनेकीजरूरतनहींहै.

यूपीसेफोकसहटाकरमायावतीनेदिल्ली,राजस्थान,मध्यप्रदेशऔरछत्तीसगढ़मेंहोनेवालेविधानसभाचुनावोंमेंअपनाफोकसकरलियाहै.मायावतीखुददिल्लीमेंरहकरचारराज्योंमेंचुनावीप्रबंधनकीकमानसंभाललीहै.बीएसपीकेप्रदेशअध्यक्षरामअचलराजभरकोदिल्लीमेंबीएसपीकाप्रभारीबनाकरदलितऔरदिल्लीमेंरहरहेपूर्वांचलकेलोगोंमेंपार्टीकीपैठकाजिम्मासौंपागयाहै.

आगामीविधानसभाचुनावोंकीतैयारीमेंहैपार्टी

इनराज्योंमें2008मेंहुएविधानसभाचुनावोंकेदौरानयूपीमेंमायावतीकीसरकारथी.मुख्यमंत्रीरहतेहुएमायावतीनेइनराज्योंमेंकईसभाएंकीथींफिरभीमध्यप्रदेशकी7,राजस्थानकी6औरदिल्ली-छत्तीसगढ़की2-2सीटोंपरहाथीविजयीहुआथा.दिल्लीमेंपार्टीको14प्रतिशतवोटमिलेथेलेकिनअन्यराज्योंमें6-8प्रतिशतवोटबीएसपीकीझेलीमेंआएथे.

अबचूंकिबीएसपीयूपीकीसत्तासेबाहरहोचुकीहैऔरआगेचलकरलोकसभाचुनावकीतैयारीकेमद्देनजरमायावतीअपनापूराध्यानचारराज्योंकेविधानसभाचुनावमेंलगारहीहैं.पार्टीकेएकराष्ट्रीयमहासचिवबतातेहैंकिचुनावकेबादमायावतीयूपीमेंएकबड़ीरैलीकरबीएसपीकेपक्षमेंमाहौलतैयारकरदेंगी.