• Home
  • महज 14 विद्यार्थी को लेकर रवाना हुई रेलगाड़ी

महज 14 विद्यार्थी को लेकर रवाना हुई रेलगाड़ी

जागरणसंवाददाता,रेवाड़ी:राष्ट्रीयपरीक्षाएजेंसीद्वारारविवारकोआयोजितराष्ट्रीयपात्रतासहप्रवेशपरीक्षा(नीट)देकरजिलेकेसैकड़ोंविद्यार्थीदिल्लीवगुरुग्रामकेपरीक्षाकेंद्रोंसेआए।दोपहरबाददोबजेसेआरंभहुईपरीक्षाकेलिएबहुतसेविद्यार्थीसुबहहीरवानाहोगएथे।कुछविद्यार्थियोंनेअपनेनिजीवाहनसेतोकुछनेबसऔररेलगाड़ीमेंआवागमनकिया।देरशामपरीक्षादेकरलौटेविद्यार्थियोंमेंकिसीनेखुशीप्रकटकीतोकिसीनेपरीक्षाकोसामान्यबताया।अधिकांशविद्यार्थीपहलीबारपरीक्षामेंबैठेथे।रेलवेकीओरसेभीरविवारकोपरीक्षाविशेषरेलगाड़ीचलाईगईथी।इसमेंकुल14विद्यार्थीहीरवानाहुएथे।इसमें7गुरुग्राम,एकदिल्लीछावनीतथा6दिल्लीसरायरोहिल्लाकीटिकटलेकरबैठेथे।

सुबह4बजेगएथे35यात्री:

इससेपहलेसुबह4बजेरेवाड़ीसेदिल्लीकेलिएगईएक्सप्रेसगाड़ीमेंभीरेवाड़ीसेविद्यार्थीउनकेअभिभावकऔरकुछयात्रीमिलाकरकुल35यात्रीगएथे।

पहलेसूचनामिलतीतोबढ़तेविद्यार्थी

रेलगाड़ीमेंबैठेविद्यार्थियोंकाकहनाथाकिउन्हेंशनिवारदेरशामकोहीरेलगाड़ीचलनेकीजानकारीमिली।इससेपहलेबहुतसेबच्चोंनेनिजीवाहनबुककरालिएथे।दोदिनपहलेजानकारीमिलतीतोबहुतसेलोगोंकोफायदामिलता।

विशेषगाड़ीहैइसलिएकिरायाभीज्यादा:

आमतौरपररेवाड़ीसेसरायरोहिल्लातकपैसेंजररेलगाड़ीकाकिराया25रुपयेलगताथा।परीक्षाविशेषरेलगाड़ीमें40रुपयेप्रतिसवारीकिरायालियागयाथा।

---------------------------------लंबेइंतजारकेबादपरीक्षाएंआयोजितहुईं।परीक्षाकेंद्रतकपहुंचनेकीचिताथीलेकिनरेलगाड़ीकीसुविधामिलनेसेराहतमिली।रेलगाड़ीमेंयात्रियोंकीभीड़नहींहोनेकेकारणकिसीप्रकारकीपरेशानीनहींआई।कमसेकमदिल्लीमेंपरीक्षाकेंद्रोंतकपहुंचनेकेलिएयातायातकेसाधनउपलब्धहोनेसेकाफीराहतमिली।कोरोनासंक्रमणकोलेकरपरीक्षाकेलिएजोडरबनाहुआथावहपरीक्षादेनेकेबादसमाप्तहोगया।परीक्षाकेतनावसेअधिकचिताहमेंकोरोनावायरसकोलेकरथी।परीक्षाकेंद्रमेंसभीआवश्यकउपायहोनेकेबावजूदमहीनोंबादघरसेनिकलेहैंइसकारणमनमेंचिताबनीहुईथी।

प्रियंका,कोनसीवास।

यहपरीक्षाहमारेभविष्यसेजुड़ीहुईहै।परीक्षाकीदेरीकोलेकरचितासतारहीथी।मेरापरीक्षाकेंद्रदिल्लीकेरोहिणीमेंथा।परीक्षादेनेसेज्यादापरीक्षाकेंद्रतकआवागमनकरनेकीचिताथीजोकुछहदतकरेलगाड़ीमिलनेसेदूरहुई।परीक्षाकेंद्रपरभीकाफीएहतियातबरतीजारहीथी।कईमाहबादघरसेबाहरनिकलेहैंतोकोरोनासंक्रमणकोलेकरथोड़ातनावभीहै।परीक्षाकोलेकरकिसीप्रकारकीदिक्कतनहींआई।

अनुराग,शांतिनगर

मैंनेदूसरीबारपरीक्षादीहै।इसलिएपरीक्षाकोलेकरबहुतज्यादातनावकीस्थितिनहींथी।मेरापरीक्षाकेंद्रगुरुग्रामकेसेक्टरचारमेंथा।परीक्षाकेंद्रकेआसपासशारीरिकदूरीकापालननहींहोरहाथा।मैंस्वयंहीमास्कपहनकरशारीरिकदूरीकापालनकररहाथा।परीक्षाकक्षमेंभीसमयपरपहुंचनेकेकारणपरीक्षादेनेमेंदिक्कतनहींआई।

विकास,परशुरामकॉलोनी

परीक्षाकेंद्रतकपहुंचनेकेलिएपहलेचितितथा।जबशनिवारशामकोरेलगाड़ीजानेकीसूचनामिलीतोथोड़ीराहतमिली।गुरुग्रामकेडीपीएसमेंकेंद्रबनायाहुआथा।रेलगाड़ीमिलनेसेज्यादापरेशानीनहींआई।इसलिएअकेलेहीपरीक्षादेनेनिकलाथा।पेपरआसानरहा।उम्मीदहैसफलतामिलजाएगी।

नीलेश,अजयनगर।