• Home
  • करोड़ों खर्च के बाद भी बुझ नहीं रही प्यास

करोड़ों खर्च के बाद भी बुझ नहीं रही प्यास

सीतामढ़ी।अभीठीकसेगर्मीदस्तकभीनहींदेपाईहै,बावजूदइसकेक्षेत्रमेंजगह-जगहजलसंकटगहरानेलगाहै।कईस्थानोंपरतालाब,नदीऔरनहरकेजलस्तरमेंकमीआतेदेखलोगोंकोपेयजलकोलेकरचितासालनेलगीहै।गिरतेभूजलस्तरकेकारणक्षेत्रमेंगर्मीकेदिनोंमेंहरसालपानीकीसमस्याहोतीहै।चापाकलहोरहेगायब,जलमीनारबनादिखावा:जनकपुररोडनगरपंचायतकेकईवार्डोंमेंसमुचितपेयजलव्यवस्थानहींहै।सार्वजनिकस्थलपरचापाकलकीभारीकमीहै।पांचसालपहलेशहरकेविभिन्नचौकचौराहोंपरअलग-अलगमदसेदर्जनोंचापाकलगाड़ेगएथे।अनियमितताकेकारण।सिस्टमकीलापरवाहीकेकारणअधिकांशचापाकलखराबहोगए।इतनाहीनहींकईजगहपरपाइपरहगएऔरहेडगायबहोगया।शहरमेंअबगिनेचुनेस्थानोंपरहीचापाकलनजरआरहेहैं।अनुमंडलमुख्यालयवालीइसनगरमेंकरोड़ोंरुपयेकीलागतसेदो-दोविशालकायपानीटंकीकानिर्माणहुआ।इसकेबादभीजलसंकटबरकरारहै।शहरकेसबसेपुरानेनागेश्वरस्थानकेसमीपपीएचईडीकार्यालयपरिसरस्थितपानीटंकीविभागीयलापरवाहीकेकारणदमतोड़चुकाहै।यहीहालराजबागमोहल्लेमेंलाखोंकीलागतसेबनीटंकीकाहै।नलजलयोजनासेभीनहींबुझरहीप्यास:सरकारकीमहत्वाकांक्षीसातनिश्चयकेतहतसंचालितहरघरनल-जलयोजनानगरसेलेकरप्रखंडकेपंचायतोंमेंधरातलपरदमतोड़तादिखाईदेरहाहै।इसयोजनासेघरोंमेंनलकेसहारेपानीपहुंचानाहै,लेकिनहकीकतयहहैकिलूटखसोटकेचक्करमेसरकारकेमंसूबोंपरहीपानीफिरगया।महीनोंपूर्वशुरूइसयोजनाकाहर्षयहहैजिसवार्डमेंपाइपलाइनबिछायागया।वहांमहीनोंबीतनेकेबादभीग्रामीणोंकोएकबूंदपानीनसीबनहींहुआ।खासकरनगरपंचायतकेकुल11वार्डोमेंअभीतककार्यअधूराहीहुआहै।जैसे-तैसेहोरहेकार्यसेकईमोहल्लेवंचितहै।कहीभीठीकसेपेयजलकीआपूर्तिनहींहोरहीहै।पेयजलसंकटकोलेकरचितितहोनेलगेलोग:ठंडमेंतोजैसे-तैसेकामचलगया,लेकिनआनेवालीभीषणगर्मीकोलेकरएकवारफिरलोगचितितहोनेलगेहै।शहरलेकरग्रामीणकईइलाकेमेंपिछलेसालभीजलसंकटगहरायाथा।जलस्तरनीचेजानेकीसमस्याओंसेलोगोंकोसामनाकरनापड़ा।नगरकेवार्ड7निवासीराकेशझाकहतेहैकिनललगाहैलेकिनपानीनहींमिलरहा।इनकेलिएनिजीस्त्रोतहीसहाराहै।वार्ड11निवासीसोनूकुमारबतातेहैकिउनकेघरमेअभीतकइसयोजनाकालाभअभीतकनहीमिलाहै।सिगियाहीरोडनिवासीमुकेशकुमारनेनलजलयोजनाकोपैसेकीबर्बादीबताया।शहरमेंदुकानदारनरेंद्रकुमारनेबतायाकिझझिहटरोडमेंचापाकलवनलजलकीव्यवस्थानहीहैउन्हेंपानीकेदर-दरभटकनापड़ताहै।सिगियाहीमिस्त्रीपट्टीनिवासीपप्पूशर्माव्यवस्थापरसवालखड़ाकरकहाकिइसगर्मीमेंभीपरेशानीतयहै।कहतेहैंअधिकारी:नगरकार्यपालकपदाधिकारीअजितकुमारशर्माबतातेहैंकिइसगर्मीमेंकिसीकोपानीकीसमस्यानहीहोइसदिशामेंकार्यकियाजारहाहै।बतायाकिकईवार्डमेंनलजलकाकार्यपूराहोगयाहै।कुछवार्डऐसेहैजहांकार्यजारीहै।प्रयासहैकिअगलेएकसप्ताहमेंव्यवस्थाकोहरहालमेंदुरूस्तकरलियाजाए।