• Home
  • खुद कुपोषण का शिकार बना बाल विकास केंद्र

खुद कुपोषण का शिकार बना बाल विकास केंद्र

अंबेडकरनगर:बच्चोंकोकुपोषणसेमुक्तिदिलानेवालाबालविकासपरियोजनाविभागखुदहीकुपोषितहै,लेकिनजिम्मेदारलोगकागजीआंकड़ेमेंइसेस्वस्थवपोषितहोनेकाप्रमाणपत्रदेरहेहैं।आलमयहहैकिविभागकेमुख्यकार्यालयसेलेकरसभीआंगनबाड़ीकेंद्रकिराएकेभवनयाप्राथमिकविद्यालयोंमेंसंचालितहोरहेहैं।

भीटीविकासखंडकेउमरावांमार्गपरबालविकासपरियोजनाअधिकारीकाकार्यालयकिराएकेमकानमेंएकदशकसेचलरहाहै।इसकेअंतर्गतकुल212आंगनबाड़ीकेंद्रहैं।इसमें43केंद्रकिराएकेमकानमेंचलरहेहैं,लेकिनविभागसेसिर्फ20केंद्रोंकोहीकिरायामिलताहै।जबकि23केंद्रोंकोकिरायासंबंधितआंगनबाड़ीकार्यकर्ताद्वारानिजीमदसेदियाजाताहै।कारणइनकेंद्रोंकोआधारसे¨लककरायागयाहैनतकनीकीकारणोंसेविभागमेंइनकापंजीकरणहीहोसकाहै।सूत्रोंकीमानेंतोकरीब25केंद्रआंगनबाड़ीकार्यकर्तायासहायिकाकेघरपरकच्चेयाछप्परनुमामकानमेंचलरहेहैं।जबकिविभागकेअनुसार12केंद्रकेपासनिजीभवनहै।शेष132केंद्रपंचायतभवनयापरिषदीयविद्यालयोंमेंचलरहेहैं।सांसदआदर्शग्रामहीडी़पकड़ियामें16लाखकीलागतसेदोआंगनबाड़ीकेंद्रनिर्माणाधीनहैं।केंद्रसरकारकेमाध्यमसेचलायेजारहेइनआंगनबाड़ीकेंद्रोंकामकसदगांवकेजीरोसेछहबर्षकेबच्चोंकोकुपोषणमुक्तकरनाहै।इसकेलिएसरकारप्रतिवर्षविकासखंडवारकरोड़ोंरूपयेबजटजारीकरतीहै।इसकेअंतर्गतपुष्टाहारवकुछदवाइयांबच्चोंवगर्भवतीमहिलाओंकोदिएजानेकीव्यवस्थानिर्धारितकीगईहै।निजीभवननहोनेकेकारणइनपौष्टिकआहारोंवदवाइयोंकेरखरखावकीसमुचितव्यवस्थानहींहै।नतीजतनगैरजिम्मेदारानातरीकेसेकेंद्रोंमेंपुष्टाहाररखेजातेहैं।जिन्हेंकुत्ते,बिल्ली,चूहेनोचतेरहतेहैंऔरयहीबच्चोंवमहिलाओंकोभीखिलायाजाताहै।----------

आंगनबाड़ीकेंद्रोंकेनिर्माणकीजिम्मेदारीसरकारकीहै।शासनसेस्वीकृतहोनेकीदशामेंसंबंधितग्रामपंचायतभूमिउपलब्धकरातीहै।निर्माणकीजिम्मेदारीकईविभागोंकोसौंपीजातीहै।इसमेंविभागद्वाराकरीबएकचौथाईराशिदिएजानेकीशर्तरहतीहै।विभागकेउच्चाधिकारियोंद्वाराजिलाधिकारीकेमाध्यमसेकेंद्रोंकोसरकारीभवनउपलब्धकरायेजानेसंबंधीप्रस्तावशासनकोभेजागयाहै।भूमिवधनराशिमिलनेकीदशामेंनिर्माणकराकरकेंद्रोंकोउसमेंशिफ्टकरादियाजाएगा।

कमलादेवीआर्या

बालविकासपरियोजनाअधिकारी

भीटी,अंबेडकरनगर