• Home
  • खरीद केंद्र न खुलने से ठोकर खा रहे अन्नदाता

खरीद केंद्र न खुलने से ठोकर खा रहे अन्नदाता

जागरणसंवाददाता,महोबा:बुंदेलखंडकेकिसानोंकेपासवैसेभीफसलोंकेपैदावारकीकोईबहुतलंबीफेहरिस्तनहींहै।उसकेपासले-देकरमटर-चनाऔरमसूरआदिकीफसलेंहीठीकठाकहोजातीहैं।उसमेंभीसरकारीदरसेकिसानकीफसलखरीदलीजाएयहबहुतकमहीकिसानोंकेसाथहोपाताहै।इससमयकिसानोंकेयहांमटर,चना-मसूरतैयारहैलेकिनकेंद्रतैयारनहींहै।ऐसेहालातोंमेंकिसानोंकोउपनीउपजखुलेबाजारमेंकमदरपरबिक्रीकरनीपड़रहीहै।

महोबाजिलेमेंइसबारमटरउपजकाआच्छादनलक्ष्य39550हेक्टेयरजमीनपरथा।उम्मीदहैकिपैदावारकेआंकड़ेइससेबेहतरहीहोंगे।वहींमसूरकाआच्छादनलक्ष्य34347हेक्टेयरथा।चनाकाआच्छादनलक्ष्य70919हेक्टेयरथा।इनफसलोंकाउत्पादनभीइसबारठीकठाकहीहै।

इससमयकिसानोंकेपासमटर,चनाऔरमसूरआदिकीअधिकांशउपजतैयारहै।लेकिनअभीतकसरकारीकेंद्रनहींखुलेहैं।जबकिचनाकासरकारीरेट5100-है।बाजारमें4600केकरीबखरीदहोरहीहै।जबकिसानकेपासचनानहींथातोयहदर7500केकरीबथी।मटरकादामअभीतकतयनहींहै।मसूरकादाम5100है।खुलेबाजारमेंइससेकमपरखरीदीहोरहीहै।इससमयजौबाजारमेंभरपूरआरहाहै।खुलेबाजारमें12.80केकरीबहै।जबकिसरकारीदर1600है।अबकेंद्रखुलेतोकिसानोंकोइसकालाभमिलसके।किसानोंकोजरूरतकेअनुसारमजबूरीमेंखुलेबाजारमेंअपनीउपजबिचौलियोंकोबिक्रीकरनीपड़रहीहै।

फिरआगेआएलेखपालहुकुमसिंह

किसानोंकोफसलनुकसानकीबीमाधनराशिदिलानेकोलेकरशासनकोपत्रभेजनेवालेलेखपालहुकुमसिंहफिरकिसानकीसमस्याओंकोलेकरआगेआगएहैं।उनकाकहनाहैकिकिसानकोयदिफसलबिक्रीकेलिएसरकारीखरीदकेंद्रसमयसेखुलजाएंतोसारीपरेशानीदूरहोजाएगी।उनकाकहनाहैकिइससमयमटर,चनाकीफसलतैयारहैलेकिनकेंद्रनखुलनेसेबाजारकेबिचौलियोंकोफायदामिलरहाहै।इससंबंधमेंवहएसडीएमकोपत्रभीदेचुकेहैं।