• Home
  • जल संचयन के लिए सभी को मिलकर करना होगा कार्य : विनय प्रताप

जल संचयन के लिए सभी को मिलकर करना होगा कार्य : विनय प्रताप

जागरणसंवाददाता,करनाल:डीसीविनयप्रतापसिंहनेकहाकिजलहीजीवनपायलटयोजनाप्रदेशसरकारकीएकमहत्वपूर्णयोजनाहै।हमेंजलकेमहत्वकोसमझनाचाहिएवजलसंचयनकेलिएमिलकरकार्यकरनाचाहिए,ताकिआनेवालीपीढ़ीकोजलकेसंकटकासामनानाकरनापड़े।

उन्होंनेबतायाकिकृषिविभागकेअधिकारीकिसानोंकोमक्काकीखेतीकेप्रोत्साहितकररहेहैं।इसयोजनाकामकसदधानकेबजायकमपानीमेंपैदाहोनेवालीकिसानोंकोजागरूककरनाहै।उन्होंनेयहभीबतायाकिप्रदेशके7जिलोंके8ब्लॉकोंमेंयहयोजनाशुरूकीगईहै,करनालजिलेमेंअसंधब्लॉककोइसयोजनाकेतहतशामिलकियागयाहै,जिससेसिस्टममेंबदलावहोऔरपानीकीबचतहो।कृषिविशेषज्ञोंकेअनुसारएककिलोधानकेउत्पादनमें3हजारसे5हजारलीटरपानीकाप्रयोगहोताहैजबकिमक्काजैसीअन्यफसलोंमेंइसकीतुलनामेंबहुतकममात्रामेंपानीकीआवश्यकताहोतीहै।प्रतिवर्षभूमिगतजलस्तरलगातारनीचेजारहाहैजिससेआनेवालीपीढि़योंकेसामनेजलसंकटखड़ाहोजाएगा।इसीबातकोध्यानमेंरखतेहुएयहयोजनाशुरूकीगईहै।उन्होंनेकिसानोंकेसाथ-साथसमाजकेअन्यलोगोंकोभीआगेआकरजलसंरक्षणमेंसहयोगदेनेकेलिएआह्वानकियाहै।