• Home
  • जीएएमएस-बीएएसएम चिकित्सकों को सर्जरी के कोर्स की परमिशन पर बिफरी आइएमए

जीएएमएस-बीएएसएम चिकित्सकों को सर्जरी के कोर्स की परमिशन पर बिफरी आइएमए

जागरणसंवाददाता,कैथल:आयुर्वेदकाकोर्सकरमेडिकलप्रैक्टिसकरनेवालेजीएएमएसऔरबीएएमएसडाक्टरोंकोआठमाहकाकोर्सकरनेकेबादसर्जरीकरनेकाभीअधिकारदेनेकेविरोधमेंडॉक्टरोंनेहड़तालकी।यहहड़तालसरकारकेइसनिर्णयकेविरोधमेंइंडियनमेडिकलएसोसिएशनकेबैनरतलेकीगई।जिसकारणशुक्रवारकोसभीप्राइवेटडाक्टरहड़तालपररहे।हड़तालकेकारणसभीअल्ट्रासाउंडकेंद्रऔरएक्सरेकेंद्रभीबंदरहे।इनकेबंदहोनेकेकारणयहांपहुंचनेवालेमरीजोंकोकाफीकठिनाईकासामनाकरनापड़ाऔरवहबिनाअल्ट्रासाउंडकरवाएहीवापसलौटगए।आइएमएकेप्रधानडा.विनोदमित्तलकाकहनाहैकिसरकारऐसाकरकेगलतकररहीहै।आठमहीनेकाकोईभीकोर्सकरकेकोईकैसेएमबीबीएसडाक्टरकीबराबरीकरसकताहै।दूसरीतरफआयुर्वेदिकचिकित्सकोंनेसरकारकेइसफैसलेकास्वागतकरतेहुएशुक्रवारकोओपीडीजारीरखी।इसकेबाददोपहरकोआइएमएकेएकप्रतिनिधिमंडलनेनायबतहसीलदारकोप्रधानमंत्रीकेनाममांगोंकोएकज्ञापनभीसौंपा।

अल्ट्रासाउंडऔरएक्सरेकेंद्रपूरीतरहसेबंदरहे

वहीं,आइएमएकीहड़तालकेकारणशहरमेंसभीअल्ट्रासाउंडऔरएक्सरेकेंद्रपूरीतरहसेबंदरहे।इनकेंद्रोंपरपहुंचनेवालेलोगोंकोबिनाअल्ट्रासाउंडकरवाएऔरएक्सरेकरवाएहीवापसलौटनापड़ा।पार्करोडस्थितअल्ट्रासाउंडकेंद्रपरपहुंचेसंजयनेबतायाकिउसेपेटमेंपत्थरीहै,जिसकेलिएवहगांवकांगथलीसेअल्ट्रासाउंडकरवानेकेलिएयहांपहुंचाथा,उन्हेंहड़तालकोलेकरकोईजानकारीनहींथी,जिसकारणवहकाफीपरेशानहुआ।शहरमेंकोईभीअल्ट्रासाउंडकेंद्रखुलानहींमिला।एक्सरेकरवानेपहुंचीमहिलासुनीतारानीनेबतायाकिउसकेघुटनेमेंदर्दरहताहै,डाक्टरोंनेउसेएक्सरेकरवानेकेलिएकहाथा,जिसकेचलतेवहएक्सरेकरवानेकेलिएअंबालारोडपरपहुंचीथी,लेकिनयहकेंद्रबंदमिला।उसेकाफीकठिनाईकासामनाकरनापड़ा।

एलोपैथीदवाएंप्रयोगकरतेहैं:डा.मित्तल

आइएमएकेप्रधानडा.विनोदमित्तलकाकहनाहैकिआठमाहकाकोईकोर्सकरकेजीएएमएस-बीएएमएसकोसर्जरीकरनेकाअधिकारदेनाकतईसहीनहींहै।यहकहनेमात्रकोहीआयुर्वेदिकडाक्टरहैं,लेकिनयहसभीएलोपैथीदवाएंइस्तेमालकरतेहैं।इससेपहलेभीसरकारनेइन्हेंअल्ट्रासाउंडकरनेकीपरमिशनदेनेकीयोजनाबनाईथी,लेकिनतबभीआइएमएकेविरोधकेचलतेइसेवापसलेनापड़ाथा।अबभीअगरइसयोजनाकोवापसनहींलियागयातोकोईभीचिकित्सकओपीडीनहींकरेगा।

किसीकीबपौतीनहींचिकित्सा-डा.ठुकराल

नीमाकेपूर्वप्रधानडा.राजेंद्रठुकरालनेकहाकिआयुर्वेदमेंआनेवालेविद्यार्थियोंकोस्नातकोत्तरस्तरपरसर्जरीकाकोर्सकरानेकीयोजनासरकारकीहै।इसकेलिएसरकारकोसाधुवाददेतेहैं,जिसनेभारतकीमिट्टीमेंपैदाहोनेवालेऔषधियोंकोप्रमोटकरनेकेलिएआयुर्वेदकोतरजीहदी।अंग्रेजीमेंपढ़ाईकरनेवालेनहींचाहतेकिहिदीऔरहिदुस्तानीपद्धतिमेंचिकित्सापद्धतिमजबूतहो।अंग्रेजोंकेतरीकेसेडिग्रीलेनेवालेअपनीमोनोपलीटूटनेनहींदेनाचाहते।उन्हेंसमझजानाचाहिएकिचिकित्सापद्धतिकिसीकीबपौतीनहीं।देशकागरीबआदमीआजइलाजकरानेसेडरताहै।कोरोनाकालमेंइनचिकित्सकोंनेतीन-तीनहजाररुपयेकंसलटेंसीफीसवसूलीऔरसीधेपेटीएमसेपेमेंटली।