• Home
  • जेडीयू राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर ललन सिंह के सामने होंगी ये चुनौतियां

जेडीयू राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर ललन सिंह के सामने होंगी ये चुनौतियां

पटना।दिल्लीमेंजनतादलयूनाइटेडकेराष्ट्रीयकार्यकारिणीकीबैठकमेंजेडीयूकेराष्ट्रीयअध्यक्षऔरनरेंद्रमोदीकीसरकारमेंकेंद्रीयइस्पातमंत्रीआरसीपीसिंहनेजेडीयूकेराष्ट्रीयअध्यक्षपदसेअपनाइस्तीफादेदिया।इस्तीफादेनेकेबादआरसीपीसिंहनेहीजेडीयूकेवरिष्ठनेताराजीवरंजनसिंहउर्फललनसिंहकानामकाप्रस्तावराष्ट्रीयअध्यक्षपदकेलिएरखाजिसेसर्वसम्मतिसेमानलियागया।अबजनतादलयूनाइटेडकीकमानबिहारकेपूर्वमंत्रीऔरमुंगेरसेलोकसभासांसदललनसिंहकेहाथमेंहै।दरअसलललनसिंहकोराष्ट्रीयअध्यक्षउसवक्तबनायागयाहैजबजनतादलयूनाइटेडअपनेहीगढ़मेंकमजोरपार्टीकेरूपमेंदेखीजारहीहै।ऐसेमेंजेडीयूकेराष्ट्रीयअध्यक्षपदपरआसीनहोनेवालेललनसिंहकेसामनेकईचुनौतियांभीहैं।जेडीयूकागठनजनतादलयूनाइटेडदेशकीएकप्रमुखराजनैतिकदलहै।इसेबिहारऔरअरुणाचलप्रदेशमेंराज्यस्तरीयराजनीतिकपार्टीकादर्जाप्राप्तहै।जेडीयूमुख्यरूपसेबिहारकीपार्टीहै,जहांNDAकीसरकारहै।लोकसभाचुनाव2019मेंजेडीयूने17सीटपरचुनावलड़ाथाऔर16सीटपरजीतहासिलकीथी।इसप्रकारजेडीयू17वींलोकसभामेंसातवींबड़ीपार्टीकेरूपमेंस्थापितहै।जेडीयूकागठन1999मेंजनतादलकेशरदयादवगुटऔरसमतापार्टीकेविलयकेबादहुआथा।बिहारमेंजेडीयूकोनंबरवनकीपार्टीबनानासबसेबड़ीचुनौतीनवनियुक्तजनतादलयूनाइटेडकेराष्ट्रीयअध्यक्षराजीवरंजनसिंहउर्फललनसिंहकेसामनेसबसेबड़ीचुनौती,बिहारमेंजनतादलयूनाइटेडकेघटतेजनाधारकोबढ़ानाहै।गौरतलबहैकि2010में115विधानसभासीटजीतनेवालीजेडीयू2015केचुनावमें80सीटपरहीजीतहासिलकरसकीथी।वहीं2020बिहारविधानसभाचुनावमेंजेडीयूमात्र43सीटपरहीसिमटकररहगईहै।ललनसिंहकेसामनेचुनौतीयहहैकिअपनेकोरवोटबैंककोफिरसेअपनेसाथजोड़ेऔरबिहारमेंजेडीयूकोफिरसेमजबूतकरें।क्योंकिसंख्याकेलिहाजसेअगरदेखेतोसत्तारूढ़जनतादलयूनाइटेडकेविधायकोंकीसंख्याबिहारविधानसभामेंकुलसीटोंकेहिसाबसे1/6कीहीआतीहै।यहीवजहहैकिपार्टीकेसाथसाथमुख्यमंत्रीनीतीशकुमारभीअपनेविधायकोंकीघटतीसंख्याकोदेखकरपरेशानहैं।जेडीयूकेपुरानेनेताओंकोफिरसेसाथजोड़नेकीचुनौतीजनतादलयूनाइटेडकेवर्तमानराष्ट्रीयअध्यक्षकेसामनेएकचुनौतीयहभीहैकिपिछले15सालमेंजदयूकोछोड़करजितनेभीनेतादूसरीपार्टीमेंगएहैंउन्हेंवापसजेडीयूमेंशामिलकराकरपार्टीकोमजबूतकरें।गौरतलबहैकिजेडीयूकेकईनेताऔरकार्यकर्तापिछले15सालमेंयातोदूसरेराजनीतिकदलमेंचलेगएयाफिरजेडीयूकीहीजड़काटनेमेंलगेहुएहैं।ललनसिंहकेसामनेयहचुनौतीहोगीकिऐसेलोगोंकोयातोपार्टीमेंवापसलाएंयाफिरकुछऐसाकरेंकिजेडीयूकोकमजोरकरनेवालेनेताचुपहोजाए।सभीपार्टियोंकेसाथबेहतरसंबंधबनानेकीचुनौतीसातबारबिहारकीबागडोरसंभालनेवालेनीतीशकुमारकीमुख्यमंत्रीरहतेहमेशायेकोशिशरहीहैकिउनकेसंबंधसभीपार्टियोंसेअच्छेरहे।फिरचाहेवहविपक्षकीपार्टियांहीक्योंनाहो।नीतीशकुमारनेअपनेइन्हींसंबंधोंकीवजहसे2015विधानसभाचुनावकेदौरानअपनेघोरविरोधीलालूप्रसादयादवकेराष्ट्रीयजनतादलकेसाथहाथमिलाकरबिहारकीसत्तापरकाबिजहुएथे।हालांकिलालूयादवकेपरिवारपरभ्रष्टाचारकादागलगनेकेबादभ्रष्टाचारपरजीरोटॉलरेंसकीबातकरनेवालेनीतीशकुमारनेखुदकोआरजेडीसेअलगकरतेहुएराज्यपालकोइस्तीफासौंपदियाथा।तत्कालीनगुजरातकेमुख्यमंत्रीनरेंद्रमोदीकीवजहसेबीजेपीसेअलगहुएनीतीशकुमारनेबीजेपीकेअन्यनेताओंसेभीबेहतरसंबंधबनारखेथे।यहीवजहथीकि2017मेंजबउन्होंनेलालूप्रसादयादवकासाथछोड़ातोफिरसेअपनेपुरानेघरयानीएनडीएमेंवापसहोसकेथे।अबयहीचुनौतीजेडीयूकेवर्तमाननवनियुक्तराष्ट्रीयअध्यक्षराजीवरंजनसिंहउर्फललनसिंहकेऊपरहै।उनकीभीकोशिशयहीहोगीकिवहसभीपार्टियोंसेअपनेसंबंधबेहतरबनाकररखें।जनसंख्यानियंत्रणकानूनऔरजातीयजनगणनाजेडीयूकेनएराष्ट्रीयअध्यक्षकेसामनेयहभीचुनौतीहोगीकिवहअपनेसहयोगीबीजेपीकेसामनेजनसंख्यानियंत्रणकानूनऔरजातीयजनगणनापरमुख्यमंत्रीकीसोचकोबेहतरढंगसेरखसके।क्योंकिइनदोनोंमुद्देपरबीजेपीकीसोचऔरमुख्यमंत्रीनीतीशकुमारकीसोचबिल्कुलहीअलगहै।राजीवरंजनसिंहउर्फललनसिंहकेसामनेचुनौतीयहहोगीकि,इनदोनोंमुद्देपरवहबीजेपीकेसाथइसतरहबातकरेंकिकोईबीचकारास्तानिकलसके।यानीइसमुद्देपरबीजेपीऔरजेडीयूकेबीचफिरसेकोईतकरारनाहोऔरनाही2013जैसीकोईस्थितिबनसके।जेडीयूमेंनयीपीढ़ीकेनेताओंकोबढ़ावागौरतलबहैकि23सालपुरानीपार्टीजनतादलयूनाइटेडकेज्यादातरनेताअबरिटायरमेंटकेउम्रपरपहुंचचुकेहैं।मुख्यमंत्रीनीतीशकुमारनेअबललनसिंहकोजेडीयूकीकमानसौंपकरनईपीढ़ीकेनेताकोबड़ीजिम्मेवारीसौंपनेकाकामकियाहै।ललनसिंहकेसामनेअबयहभीचुनौतीहोगीकिवहजेडीयूमेंनईपीढ़ीकेलोगयानीयुवावर्गकोइसतरहआगेबढ़ाएं,ताकिपार्टीफिरसेअपनीपुरानीगरिमाकोप्राप्तकरसके।गौरतलबहैकिहालकेकुछवर्षोंमेंजनतादलयूनाइटेडकेकईऐसेयुवानेताहैजिनमेंकाबिलियतरहतेहुएभीउन्हेंपार्टीमेंकोईबड़ास्थाननहींमिलसकाहै।ललनसिंहकेसामनेयहचुनौतीहोगीकिऐसेपार्टीनेताओंकीखोजकरेंऔरउनकेकार्यकेआधारपरपार्टीमेंकोईजिम्मेदारीसौंपे।