• Home
  • Jammu Kashmir Delimitation: जनगणना के बाद हो परिसीमन, वर्ष 2011 में हुई जनगणना में रहा कश्मीरी नेताओं का हस्तक्षेप

Jammu Kashmir Delimitation: जनगणना के बाद हो परिसीमन, वर्ष 2011 में हुई जनगणना में रहा कश्मीरी नेताओं का हस्तक्षेप

जम्मू,जागरणसंवाददाता: डुग्गरप्रदेशपार्टीनेकेंद्रसरकारसेजम्मूऔरकश्मीरराज्यकेपुनर्गठनकोपूराकरनेकेलिएजम्मूक्षेत्रकोभारतीयसंघकेपूर्णराज्यकेरूपमेंविभिन्नपहचानभौगोलिकपरिस्थितियों,इतिहासऔरराजनीतिकआकांक्षाओंकीअलग-अलगसंस्कृतियोंकेआधारपरपूरीतरहसेकश्मीरक्षेत्रसेअलगकरनेकाआग्रहकिया।

डुग्गरप्रदेशपार्टीकेअध्यक्षउदयचंदनेकहाकिसरकारकोपहलेजम्मूऔरकश्मीरक्षेत्रोंकोराज्यघोषितकरनाचाहिएऔरफिरभारतकेसंविधानद्वाराआवश्यकजनगणना2021-22केबाददोनोंक्षेत्रोंकाअलग-अलगपरिसीमनकरनाचाहिए।जम्मू-कश्मीरमें2011मेंहुईजनगणनातत्कालीनशासकोंद्वाराकश्मीरक्षेत्रकीआबादीसोचीसमझीसमझीसाजिशकेतहतअधिकदिखाईगईहै।

उदयचंदनेमांगकीकिकठिनपहाड़ीइलाकों,कठिनऔरकमसंचारसाधनोंवालेजम्मूक्षेत्रमेंपूर्वोत्तरराज्योंकीतर्जपरविधानसभासीटोंकापरिसीमनछोटाकियाजाए।कश्मीरक्षेत्रपहलेसेहीइससुविधाकाआनंदलेरहाहैक्योंकिउनकाइलाकाइतनापहाड़ीनहींहैऔरविधानसभाक्षेत्रऔरमतदाताओंकीसंख्याभीकमहै।

पार्टीकेमहासचिवमोहनसिंहनेकहाकिप्रधानमंत्रीकीबैठकमेंभागलेनेकेलिएभेजेगएनिमंत्रणस्पष्टरूपसेदर्शाताहैकिजम्मूकेखिलाफभेदभावपूर्णनीतियां1947सेपिछलीकेंद्रसरकारोंकीतरहहीहैं।आमंत्रितोंमेंसेअधिकांशकेंद्रीयराजनीतिकदलऔरकश्मीरीहैं।राजनीतिकदलोंनेराज्यकेप्रतिएजेंडानिर्धारितकियाहैऔरजम्मूक्षेत्रकेलोगोंकीसभीभेदभावपूर्णनीतियोंऔरदुखोंकेलिएपूरीतरहसेजिम्मेदारहैं।

जम्मूकेलिएलड़नेवालेराजनीतिकनेताओंकीअनदेखीकीहै।डुग्गरप्रदेशपार्टीनेराष्ट्रीयराजनीतिकदलोंविशेषकरकश्मीरीशासकोंपरजम्मूकीउपेक्षाकाआरोपलगाया।उनकाकहनाथाकिकश्मीरीजम्मूकेसाथबदलेकीभावनासेकामकरतेरहेऔरकेंद्रसरकारेंजम्मूकोफारग्रांटिडलेतीरही।

बैठककीअध्यक्षतापार्टीअध्यक्षउदयचंदनेकी।महासचिवमोहनसिंहसलाथिया,वर्षाकपूर,कुलवीरचाढ़क,शिवदेवसुशील,जिलाअध्यक्षमंगलदास,जिलाअध्यक्षग्रामीणजमालदीन,जिलासचिवओमप्रकाशशर्मा,अशोकजसरोटिया,एसकुलदीपसिंहआदिशामिलहुए।