• Home
  • इस गांव में आजादी के 73 वर्ष बाद भी नहीं पहुंची बिजली

इस गांव में आजादी के 73 वर्ष बाद भी नहीं पहुंची बिजली

संवादसूत्र,मझगांव:पश्चिमीसिहंभूमजिलेकेमझगांवप्रखंडअंतर्गतघोड़ाबंधापंचायतकेबाइपीटोलामेंआजादीके73सालबादभीबिजलीनहींपहुंची।यहांकेग्रामीणआजभीढिबरीयुगमेंजीरहेहैं।यहटोलाविकासकेमामलेमेंपिछड़ाहुआहै।बाइपीकेचन्द्रमोहनहेंब्रम,जुंगीकेराई,सीताहेंब्रमसहितकईअन्यग्रामीणबतातेहैंकिहमारेयहांबिजलीनहीं।यहांकेग्रामीणकिसीतरहजीतेहैं।ग्रामीणबतातेहैंकिहरचुनावमेंनेताओंकीओरसेवादेकिएजातेहैं।परंतुचुनावखत्महोतेहीनेताजीतकरचलेजातेहैंफिरकोईसुधलेनेनहींआताहै।वहींदशरथहेंब्रमबतातेहैंहमारेयहांआजादीकेबादसेहीबिजलीनहींहै।राज्यकेपूर्वमुख्यमंत्रीरघुवरदासनेवादाकियाथाकिदिसंबर2018तकघर-घरबिजलीपहुंचादीजाएगी।उसकेबादभीबिजलीनहींपहुंची।इसकेलिएहमग्रामीणोंनेविधानसभाचुनावमेंवोटवहिष्कारकानिर्णयलियाथालेकिनतत्कालिनप्रखंडविकासपदाधिकारीहरिवंशपंडितऔरअंचलाधिकारीअरुणकुमारमुंडानेआश्वासनदेतेहुएएकमाहकेअंदरबिजलीपहुंचानेकावादाकियाथा।तभीगांवमेंविशेषबैठककरनिर्णयलियागयाकिसभीकोवोटदेनाहै।चुनावसंपन्नहोतेहीप्रशासनिकपदाधिकारीगुमहोगए।चुनावकेबादअबतकउनलोगोंकादर्शनदुर्लभहोगया।इसदौरानबिजलीकेखंभेभीगाड़ेगएलेकिनअबतकटोलामेंबिजलीनहींपहुंची।सबसेदुखदपहलूयहहैकिइससमस्याकेनिदानकेलिएमंत्री,विधायकवआलाधिकारियोंद्वाराकोईपहलनहींकीजारहीहै।प्रखंडकेअधिकतरटोलोंमेंलोगआजभीढिबरीयुगमेंजीनेकोविवशहैं।

क्याकहतेहैंग्रामीण

बाईपीगांवकोसुदलेनेवालाकोईभीनहीहै।73वर्षबीतजानेकेबादभीबिजलीनहीपहुंचनासमझसेपरेहै।कहीनाकहीहमलोगोंकीभीगलतीहैआनेवालेहरचुनावमेंगलतीकोसुधारनेकाकामकरेगें।

.चंद्रमोहनहेंब्रम,बाइपी।

रातहोतेहीहमलोगघरोंमेंदुबकनेकोमजबूरहोजातेहैं।पाइपीगांवचारोंऔरजंगलसेगिराहुआहै।दिनमेंजानवरनिकलताहै।जानवरकेहमलेसेकईलोगजख्मीभीहुएहैं।बरसातकेसमयकाफीपरेशानीहोतीहै।बिजलीकीआसमें65सालउम्रहोगईहैपरबिजलीनहींपहुंची।दिखावेकेलिएबिजलीकेखंभेगाड़करछोड़दियाहै।

-जांगीकेराई,बाइपी।