• Home
  • गोआश्रय केंद्र : व्यवस्था की कमी, समय से नहीं मिला चारा-पानी

गोआश्रय केंद्र : व्यवस्था की कमी, समय से नहीं मिला चारा-पानी

जागरणसंवाददाता,बलिया:हाईकोर्टद्वारापौराणिकमहत्ववसामाजिकउपयोगिताकोदेखतेहुएगायकोएकतरफराष्ट्रीयपशुघोषितकरनेकासुझावदियाजारहाहै।वहींगोआश्रयकेंद्रोंपरइनकीदेखभालकेलिएनिर्धारितसुविधातकउपलब्धनहींहै।गोआश्रयकेंद्रोंपरदु‌र्व्यवस्थाकेकारणअधिकांशपशुकुपोषणकाशिकारहोरहेहैं।

गड़वार:ब्लाकक्षेत्रकेशाहपुरगांवकेझंगहीमौजेमेंस्थितअस्थायीपशुआश्रयकेंद्रपरवतर्मानमें54गोवंशरखेगएहैंलेकिनपड़तालमेंमौकेपर42हीमिले।गुरुवारकोकेंद्रपररखेगएबछड़ेकमजोरहालतमेंसूखाभूसाखातेहुएमौकेपरमिले।शेषबछडोंकेबारेमेंपूछनेपरकर्मचारियोंनेबतायाकि12बछड़ेपशुपालकोंकोसुपुर्दकियागयाहै।उन्हेंबछड़ोंकीदेखभालवभूसाकेलिएप्रतिबछड़े30रुपएप्रतिदिनकेहिसाबसेदियाजाताहै।वहींगोआश्रयकेंद्रकाबाउंड्रीवालनहींबनाहै,जिससेरातमेंबछडोंकोसियारवकुत्ताद्वाराकाटनेकाभयबनारहरहाहै।पशुधनप्रसारअधिकारीशिवाजीसिंहनेबतायाकिपिछलेएकवर्षोंसेबिजलीविभागकेअधिकारियोंसेयहांविद्युतव्यवस्थासुनिश्चितकरवानेकोकहाजारहाहैलेकिनअभीतकसमस्याजसकीतसहै।किसानकवलदेववजयप्रकाशनेबतायाकिगोआश्रयकेंद्रपरव्यवस्थामेंकमीहै।बछड़ोंकोसमयसेचारापानीनहींमिलपाताहै।इससेअधिकांशबछड़ेकमजोरहोगएहैं।

इंदरपुर:ब्लाकचिलकहरकेगोआश्रयकेंद्रगोपालपुरमेंकुलचालीसबछड़ेवतीनगायहैंवहींबछईपुरमें45बछड़ेवचारगायवएकबड़ेसांडकोआश्रयमिलाहै।सरकारद्वाराप्रतिजानवरतीसरुपयेमिलरहाहैपररखरखावकेनामपरकागजीकोरमहीसंचालकोंद्वारापूराकियाजारहाहै।सूखाभूसाखिलानेकेबादसिर्फपानीपिलायाजाताहै।पोषणकोचोकरआदिनहींदिएजानेसेपशुकुपोषणकाशिकारहोगएहैं।