• Home
  • दूसरे दिन भी बिजली फाल्ट को ठीक करने में जुटे रहे कर्मचारी, बत्ती रही गुल

दूसरे दिन भी बिजली फाल्ट को ठीक करने में जुटे रहे कर्मचारी, बत्ती रही गुल

जागरणसंवाददाता,झज्जर:

जिलाअस्पतालकीदूसरेदिनभीबिजलीसप्लाईबाधितरही।जिसकारणआनलाइनकार्यबाधितरहेऔरमरीजोंकोभीदिक्कतोंकासामनाकरनापड़ा।वहीं,तकनीकीस्टाफफाल्टकोठीककरनेकेलिएजुटारहा।ताकिसप्लाईसुचारूरूपसेहोसके।बरसातकेकारणजिलाअस्पतालकीतारोंमेंशार्टसर्किटहोगयाहै।जिससेकिवीरवारकोदिनभरजिलाअस्पतालकीबत्तीगुलरही।यहीस्थितिशुक्रवारकोभीबनीरही।कर्मचारीफाल्टकोठीककरनेकेलिएलगेरहेऔरअस्पतालमेंबिजलीसप्लाईनहींहोनेकेकारणमरीजों,तीमारदारोंवअस्पतालस्टाफकोपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ा।

बिजलीसप्लाईनहींहोनेकेकारणसबसेअधिकआनलाइनकार्यप्रभावितहुआ।अस्पतालमेंरजिस्ट्रेशनपर्चीबनानेसेलेकरचिकित्सीयउपचारआनलाइनकरने,दवाइयां,टेस्टवएक्स-रेआदिकीरिपोर्टभीआनलाइनमाध्यमसेदीजातीहै।बिजलीबाधितहोनेकेकारणआनलाइनकार्यप्रभावितरहा।बतादेंकिहररोजजिलाअस्पतालमेंऔसतन500सेअधिकमरीजउपचारकेलिएपहुंचतेहैं।शुक्रवारकोकंप्यूटरनहींचलनेकेकारणमरीजोंकीरजिस्ट्रेशनपर्चियांभीआफलाइनमाध्यमसेहाथसेलिखकरबनानीपड़ी।जिसमेंसमयभीअधिकलगाऔरमरीजोंकोलाइनोंमेंलगारहनापड़ा।नहींहुएअल्ट्रासाउंडऔरएक्स-रे

बिजलीसप्लाईबाधितहोनेकेकारणशुक्रवारकोजिलाअस्पतालमेंएक्स-रेवअल्ट्रासाउंडनहींहोपाए।सामान्यत:जिलाअस्पतालमें50सेअधिकलोगअल्ट्रासाउंडकेलिएव50सेअधिकलोगएक्स-रेकेलिएआतेहैं।सभीकोमायूसहोकरवापसलौटनापड़ा।साथहीदिक्कतोंकाभीसामनाकरनापड़ा।अल्ट्रासाउंडकेलिएपहुंचीमहिलाएंतोदोपहरतकबिजलीकाइंतजारकरतीनजरआई।लेकिनजबबिजलीसप्लाईसुचारूनहींहुईतोवेवापसलौटगई।इधर,इंतजारकरनेवालोंमेंगर्भवतीमहिलाएंभीशामिलरही।फिरपानीनाभरे,इसकेलिएकररहेव्यवस्था

जिलाअस्पतालमेंसप्लाईहोरहीबिजलीकेमुख्यकंट्रोलरूपमेंजलभरावकेकारणशार्टसर्किटसेनुकसानहुआहै।कंट्रोलरूमकीखिड़कियोंपरशीशेनहींहोनेकेकारणबरसातकासीधापानीअंदरआगयाथा।अबआगेसेऐसीघटनानाहो,इसलिएइनखिड़कियोंकामापलियाजारहाहै।ताकिइनपरशीशेयाअन्यकिसीकेजरिएढकाजासके।ताकिफिरसेबरसातकापानीरूमकेअंदरनाहोऔरशार्टसर्किटजैसीस्थितिनाबनें।अस्पतालमेंजगह-जगहजलभराव

बरसातकेकारणजिलाभरमेंजगह-जगहजलभरावकीस्थितिबनीहुईहै।जिसकारणअस्पतालमेंपहुंचनेवालेमरीजोंकोभीदिक्कतहोतीहै।वहींजलभरावकीस्थितिहरबरसातमेंदेखनेकोमिलतीहै।वीरवारकोतोजिलाअस्पतालकीस्थितिअधिकखराबथी।मरीजोंकोपानीसेहोकरहीगुजरनापड़ा।शुक्रवारकोजलस्तरकुछकमहुआ,लेकिनजलभरावकीस्थितिसेराहतनहींमिली।अस्पतालमेंआने-जानेवालेरास्तों,पार्किंगवअन्यस्थानोंपरजलभरावकीस्थितिबनीहैं।