• Home
  • दिल्ली सरकार की इस योजना में हुआ बड़ा बदलाव, अब दिल्लीवालों को यह सर्टिफिकेट देने की जरूरत नहीं

दिल्ली सरकार की इस योजना में हुआ बड़ा बदलाव, अब दिल्लीवालों को यह सर्टिफिकेट देने की जरूरत नहीं

नईदिल्ली.दिल्लीसरकार(DelhiGovernment)ने‘मुख्यमंत्रीकोविड-19परिवारआर्थिकसहायतायोजना’मेंबड़ाबदलावकियाहै.दिल्लीसरकारनेऐसेमामलोंमेंजहांपतियापत्नीमेंसेएकजीवितहै,उन्हेंइसयोजनाकेतहतअबआवेदनकेलिएसर्वाइविंगमेंबरसर्टिफिकेटकीआवश्यकताखत्मकरदीहै.बतादेंकियोजनाकेतहतदिल्लीसरकारउनपरिवारोंकोआर्थिकसहायताप्रदानकरतीहै,जिन्होंनेCOVID-19केकारणअपनेघरकेरोजी-रोटीकमानेवालोंकोखोदियाहै.दिल्लीकेराजस्वमंत्रीकैलाशगहलोतनेमुख्यमंत्रीकोविड-19परिवारआर्थिकसहायतायोजनाकीसमीक्षाकेलिएअधिकारियोंकेसाथएकबैठककेबादयहनिर्णयलिया.

बतादेंकिइसबैठककेदौरानयहनिर्णयलियागयाकिइसयोजनाकेतहतअबउनमामलोंमेंआवेदकसेसर्वाइविंगमेंबरसर्टिफिकेट(एसएमसी)प्राप्तकरनेकीआवश्यकतानहींहोगी,जहांपतियापत्नीमेंसेएकजीवितहैं.हालांकि,अन्यआवेदकोंकेलिएअनुग्रहराशिप्राप्तकरनेकेलिएसर्वाइविंगमेंबरसर्टिफिकेटकीआवश्यकतालागूरहेगी.ऐसेमामलोंमेंजहांमृतकसिंगलपैरेंटथेतोउनकेसभीबच्चोंकेबीचसमानरूपसेराशिवितरितहोंगे.लेकिन,इसकेलिएआवेदककानामसर्वाइविंगमेंबरसर्टिफिकेटमेंहोनाचाहि.इसीप्रकारयदिमृतकअविवाहितहैयानाबालिगपुत्र/पुत्रीहैतोमृतककेपितायामाताकोयोजनाकेतहतराहतमिलेगीबशर्तेउनकानामएसएमसीमेंआए.

मुख्यमंत्रीकोविड-19परिवारआर्थिकसहायतायोजनामेंबदलाव

गौरतलबहैकिमुख्यमंत्रीकोविड-19परिवारआर्थिकसहायतायोजनादिल्लीसरकारद्वाराजून,2021मेंकोविड-19सेमरनेवालेमृतकोंकेपरिवारकेजीवितसदस्योंकोराहतप्रदानकरनेकेलिएशुरूकीगईथी.इसयोजनाकेतहत,केजरीवालसरकारउनपरिवारोंकोकेशट्रांसफरप्रदानकरतीहै,जिन्होंनेCOVID-19केकारणअपनीरोजी-रोटीकमानेवालोंकोखोदियाथा.

येभीपढ़ें: दिल्लीट्रैफिकपुलिसतैयारकररहीहैटॉप-10खतरनाकड्राइवरोंकीलिस्ट,जानेंक्याहैपूरामामला

दिल्लीकेराजस्वमंत्रीकैलाशगहलोतनेकहा,‘दिल्लीकीकेजरीवालसरकारनेहमेशादिल्लीकेलोगोंकासाथदियाहै,दिल्लीसरकारइसदुखकीघड़ीमेंभीलोगोंकेसाथखड़ीरहेगी.यहहमाराकर्तव्यहैकिइसमहामारीमेंअपनेप्रियजनोंकोखोनेवालेपरिवारोंकीहमहरसंभवमददकरें.’

ब्रेकिंगन्यूज़हिंदीमेंसबसेपहलेपढ़ेंNews18हिंदी|आजकीताजाखबर,लाइवन्यूजअपडेट,पढ़ेंसबसेविश्वसनीयहिंदीन्यूज़वेबसाइटNews18हिंदी|

Tags:ArvindKejriwalledDelhigovernment,CoronaCasesinDelhi,CoronadeathcaseinDelhi,Delhinews,Scheme