• Home
  • धंसी सड़कें दे रहीं हादसों को दावत

धंसी सड़कें दे रहीं हादसों को दावत

जागरणसंवाददाता,मैनपुरी:

शहरकीसबसेव्यस्ततमकचहरीरोडपरसीएमओकार्यालयकेबाहरकुछदिनपहलेटेलीफोनकीकेबिलडालनेकेलिएसड़ककिनारेखोदाईकीगईथी।बादमेंकेवलमिट्टीडालकरगड्ढेकोबंदकरदियागया।बारिशकेबादयहांसड़कधंसगईहै।जिससेकभीभीकोईहादसाहोसकताहै।

इटावा-कुरावलीफोरलेनपरईशननदीपुलकेपाससड़कपरएकबड़ागड्ढाहोगयाहै।दोनोंओरसेआनेवालेवाहनोंकोयेगड्ढादिखाईनहींदेताहै।जैसेहीलोगपासआतेहैंतोअचानकसेगड्ढासामनेआजाताहै।आएदिनयहांराहगीरचोटिलहोतेरहतेहैं।

शहरकेदेवीरोडपरईशननदीपुलसेठीकपहलेसड़कधंसगईहै।गड्ढेकेआसपासघासउगआईहै।इसकेकारणलोगोंकोगड्ढेकाआभासहीनहींहोपाताहै।इसरोडपरस्कूलआने-जानेवालेबच्चोंकीसंख्यासबसेअधिकहै।ऐसेमेंकभीभीकोईदुर्घटनाहोसकतीहै।

शहरकीसड़कोंपरहुएगड्ढेहादसोंकोदावतदेरहेहैं।शहरकीऐसीकोईसड़कनहींहै,जहांगड्ढेनहुएहैं।बारिशकेबादअबयेगड्ढेऔरगहरेहोगएहैं।इनस्थानोंपरकभीभीकोईदुर्घटनाहोसकतीहै।अगरसड़कपरहुएइनगड्ढोंकेकारणपरनजरडालेंतोपताचलताहैकियेविभागोंकीलापरवाहीकानतीजाहै।शहरमेंबिजलीकीअंडरग्राउंडकेबिलेंवटेलीफोनकीलाइनऔरसीवरलाइनडालनेकेलिएसड़कोंपरआएदिनखोदाईकीजातीरहतीहै।कामपूराहोनेकेबादबसगड्ढेकोमिट्टीडालकरबंदकरदियाजाताहै।इसकेबादविभागकोइसकीकोई¨चतानहीं।कुछहीदिनमेंइनगड्ढोंकीमिट्टीबैठजातीहैऔरलोगोंकोपरेशानीहोनेलगतीहै।बारिशकेबादतोहालऔरभीखराबहोजाताहैक्योंकिबारिशकापूरापानीइन्हींगड्ढोंमेंजाताहैऔरसड़ककई-कईमीटरतकधंसजातीहै।आतेजातेभीकभीजिम्मेदारोंकीनजरइनगड्ढोंपरनहींजातीहै।