• Home
  • चीन को घेरने के लिए 'लोकतंत्र का कूटनीतिक चतुर्भुज' बना रहा अमेरिका

चीन को घेरने के लिए 'लोकतंत्र का कूटनीतिक चतुर्भुज' बना रहा अमेरिका

नईदिल्लीबीतेदिनोंचीनकेराष्ट्रपतिकेतौरपरअपनीदूसरीपारीशुरूकरनेवालेशीचिनफिंगकेबढ़तेप्रभावकोदेखतेहुएयूएसनेबड़ीयोजनाबनाईहै।चीनकीतरफसेनेपाल,श्रीलंका,बांग्लादेशऔरअफ्रीकाकोवित्तीयमदददेनेकेबादउनकाप्रभावविश्वराजनीतिमेंतेजीसेबढ़रहाहै।ऐसेमेंयूएसनेजापान,ऑस्ट्रेलियाऔरभारतकोसाथलेकरवैकल्पिकरास्तेअपनानेकीयोजनाबनाईहै।चीनकेबढ़तेप्रभावकामुकाबलाकरनेकीअपनीरणनीतिकेतहतपहलेचरणमेंट्रंपकेवरिष्ठअधिकारियोंनेवॉशिंगटनकेसाथटोक्यो,नईदिल्लीऔरकैनबेराकोलेकरबड़ीयोजनाबनाईहै।प्लानहैकिइसकूटनीतिकगठबंधनकोआगेभीलेजायाजाएगा।अमेरिकाकेविदेशमंत्रीकेदौरोंकीसमीक्षापरबातकरतेहुएअसिस्टेंटसेक्रटरीऑफस्टेटअलाइसवेल्सनेपत्रकारोंसेबातचीतमेंबताया,'जोदेशएकजैसेमूल्योंकोसाझाकरतेहैं,उनकेपासउनकेबुनियादीढांचेमेंऔरआर्थिकविकासमेंनिवेशकीआवश्यकताकेलिएक्षेत्रीयदेशोंकोविकल्पप्रदानकरनेकाअवसरहै।इसेसुनिश्चितकरनेकेलिएहमदेशोंकोवहविकल्पमुहैयाकराएंगे,जिसमेंअनैतिकवित्तपोषणयाअसुरक्षितऋणशामिलनहींहैऔरयहनिश्चितरूपसेउद्देश्यकोपूराकरेगा।'यूएसकीतरफसेयहप्लानऐसेसमयमेंआयाहैजबअगलेमहीनेअमेरिकाकेराष्ट्रपतिडॉनल्डट्रंपपेइचिंगऔरटॉक्योदौरेकीतैयारीकररहेहैं।जिसतरहसेयूएसकीतरफसेइसमें'अनैतिकवित्तपोषणयाअसुरक्षितऋण'नहींशामिलकरनेकीबातकीगईहै,उससेसाफहैकियहइशाराकहींनकहींचीनकीतरफहीहै।नेपालमेंमिलेनियमचैलेंजकॉर्पोरेशन(एमसीसी)केतहतकरीब44अरब12करोड़केप्रॉजेक्टपरकामहोनाहै,जिसकेलिएकरीब8अरब43करोड़रुपयेनेपालकोदेनेहैंऔरबाकीपैसाएमसीसीदेगा।वेल्सकाकहनाहैकिजिसप्रॉजेक्टकेतहतसड़कोंकेसाथभारतमेंऊर्जासंचरणलाइनोंकानिर्माणकियाजारहाहै,मेंनेपालकोभीअगलेसातसालमेंएनर्जीएक्सपोर्टरबननेकीइजाजतदीजाएगीऔरभारत-नेपालकेबीचबड़ीजिम्मेदारीसेकनेक्टिविटीकानिर्माणकरनाहोगा।अमेरिका,भारतऔरजापानकेबीचपहलेसेहीउत्पादकत्रिपक्षीयसाझेदारीकोउजागरकरतेहुएवेल्सनेकहाकिइसमेंऑस्ट्रेलियास्वभाविकसाझीदारहोगाऔरवॉशिंगटनकीतरफसेआनेवालेसमयमेंजल्दहीइस'कूटनीतिकचतुर्भुज'बैठककीयोजनाबनाईजारहीहै।वेल्सकाकहनाहै,'बड़ीबातयहहैकिएकजैसेमूल्योंकोसाझाकरनेवालेदेशोंकोकैसेएकमंचपरलायाजाएऔरफिरउनमूल्योंकाइस्तेमालकैसेवैश्विकस्तरपरकियाजाए।'कुछजानकारोंकाकहनाहैकिजैसेचीनओआरआबीकेजरिएअपनेसबसेबड़ेरणनीतिकखेलकीशुरुआतकररहाहैउसेदेखतेहुएअमेरिकाभीऐसीयोजनाबनारहाहै।ओआरओबीकाविरोधकरनेवालेपहलेसिर्फभारतथा,लेकिनअबभारतकोइसमेंअमेरिकाकाभीसाथमिलाहै,जिसकामाननाहैकियहकुछऔरनहींबल्किकिसीअन्यनामकेसाथकीजारही'एकतरफालाभवालाअर्थशास्त्र'है।