• Home
  • बक्सरः स्वास्थ्य मंत्री कहते बिहार में ‘फुल टाइट’ व्यवस्था, गांवों में बदहाली के आंसू रो रहे उप स्वास्थ्य केंद्र

बक्सरः स्वास्थ्य मंत्री कहते बिहार में ‘फुल टाइट’ व्यवस्था, गांवों में बदहाली के आंसू रो रहे उप स्वास्थ्य केंद्र

बक्सरःसुबेकेस्वास्थ्यमंत्रीमंगलपांडेयबिहारकीस्वास्थ्यव्यवस्थाकेबारेमेंबतातेनहींथकतेकिपहलेलालटेनयुगथा,अबस्वास्थ्यव्यवस्थामेंकाफीसुधारहुआहै.लेकिनसिमरीप्रखंडकीदुल्हपुरपंचायतकाउपस्वास्थ्यकेंद्रबीतेकईवर्षोंसेदमतोड़चुकाहै.कभीयहभवनपंचायतकेलिएशानथा.

उपस्वास्थ्यकेंद्रकेभवनमेंभैंसबंधेहैंतोदरवाजेपरकुत्तेरखवालीकररहेहैं.भवनकेआसपासगोबरऔरअस्पतालकेटूटेछज्जेकोदेखकरसहजअंदाजालगायाजासकताहैकियहांकीस्थितिकैसीहै.यहअस्पतालइंसानोंकेइलाजकेलिएबनाहै,मगरवर्षोंसेयहांबेजुबानजानवरबसेराकरतेहैं.देखनेसेलगताहैकिअस्पतालनहींयहभैंसोंकातबेलाहै.

इलाजकेलिएदरदरभटकतेहैंलोग

कोरोनाकालमेंजबबीमारमरीजोंकोइलाजकीजरूरतपड़तीहै,तोइसस्वास्थ्यउपकेंद्रसेलोगोंकोमायूसीमिलतीहै.उन्हेंकईकिलोमीटरदूरजाकरबक्सरमेंकहींइलाजकरानापड़ताहै.अतिप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रग्रामीणक्षेत्रोंमेंस्वास्थ्यसुविधाबेहतरकरनेकेलिएकेंद्रसरकारसेलेकरराज्यसरकारोंद्वारापैसापानीकीतरहबहायाजारहाहै,लेकिनविभागीयखामियांव्यवस्थापरहावीहै.

स्वास्थ्यकर्मियोंकेवजहसेहैबदहाल

इसउपस्वास्थ्यकेंद्रकोइसलिएबनायागयाथाकिक्षेत्रकेलोगोंकोछोटी-छोटीबीमारियोंकेलिएशहरोंकाचक्करनकाटनापड़े.बावजूदइसकेपदस्थापितकुछस्वास्थ्यकर्मियोंकीवजहसेव्यवस्थासुचारूरूपसेबहालनहींहै.पहलेयहां13स्टाफकामकरतेथेजोअबदोबचेहैं.वहभीकभी-कभीआतेहैं.व्यवस्थाकीखामियोंनेइसअस्पतालकेवजूदकोखत्मकरदिया.

इमरजेंसीहोनेपरआंसूबहानेकोमजबूर

10हजारकीआबादीवालेइसगांवकेलोगआजभीकुव्यवस्थाकादंशझेलरहेहैं.कईबारऐसाहुआकिकोईशख्सबेहदगंभीरस्थितिमेंपहुंचगयातोप्राथमिकइलाजकेलिएउसकेपरिजनोंकोदूरस्थअस्पतालोंतकपहुंचनापड़ताहै.इसबीचमरीजकीस्थितिअगरचिंताजनकहोगईतोआखिरमेंपरिजनोंकेपाससिर्फआंसूबहानेकेअलावाकुछनहींबचता.

एएनएमनेबदहालव्यवस्थाकेबारेमेंबताया

ग्रामीणोंकीमानेंतोजबअस्पतालअस्तित्वमेंआयातबसेलेकरकुछवर्षोंतकयहव्यवस्थाकाफीअच्छीथी,लेकिनपिछलेकईवर्षोंसेइसअस्पतालकीअबसुधलेनेवालाकोईनहींहै.ऐसेमेंइसउपस्वास्थ्यकेंद्रकाबदहालहोनास्वास्थ्यव्यवस्थापरएकबड़ासवालखड़ाकरताहै.

उपस्वास्थ्यकेंद्रमेंपदस्थापितएएनएमकुसुमकुमारीसेबातकीगईतोवहांहुएखामियोंकारोनारोनेलगींऔरअपनीमजबूरियांगिनानेलगीं.बहरहालसच्चाईक्याहैअबयहकिसीसेछिपीनहींहै,लेकिनबड़ासवालयहहैकिअगरस्वास्थ्यव्यवस्थाकायहहालहोगातोलोगोंकेइलाजकाक्याहोगा?वहभीइसकोविड-19महामारीकेसंकटमेंजहांकेसांसदसहकेंद्रीयपरिवारकल्याणमंत्रीअश्विनीचौबेहैं.वहींबिहारकेस्वास्थ्यमंत्रीमंगलपांडेयबक्सरजिलेकेप्रभारीमंत्रीबनाएगएहैं.

बतादेंकियहबक्सरकेएकउपस्वास्थ्यकेंद्रकायहहालनहींहैबल्किएबीपीबिहारनेइसकेपहलेभीकईपीएचसीऔरसीएचसीकीतस्वीरेंऔरखबरेंदिखाईंहैंजोस्वास्थ्यव्यवस्थाकीपोलखोलनेकेलिएकाफीहै.

मधुबनीः‘टीकाएक्सप्रेस’से15दिनोंमेंहरवार्डोंमेंदीजाएगीवैक्सीन,देखेंकहां-कहांलगेगाकैंप