• Home
  • बिजली कंपनियों को निजी हाथों में सौंपना चाहती है सरकार

बिजली कंपनियों को निजी हाथों में सौंपना चाहती है सरकार

-संसदमेंबिललानेकीकोशिशहुईतोदेशभरकेबिजलीकर्मचारीकरेंगेविरोध

जागरणसंवाददाता,हिसार:नेशनलकार्डिनेशनकमेटीईईएफआईकेआह्वानपरआलहरियाणापावरकारपोरेशनवर्कर्सयूनियनसातरोडसबयूनिटकीगेटमीटिगआयोजितकीगई।कर्मचारियोंनेबिजलीबिल2021केविरोधमेंजमकरनारेबाजीकी।अध्यक्षताप्रधानसंजयख्यालिया,संचालनसचिवमुकेशगौतमनेकिया।बैठकमेंराज्यउपप्रधानजगमेंद्रपूनिया,सर्कलसचिवओमप्रकाशवर्मा,यूनिटकेवरिष्ठउपप्रधानरविद्रबिश्रोई,सचिवरमेशझोरड़वसर्वकर्मचारीसंघकेप्रेससचिवअरूणसहितअन्यनेताओंनेविशेषतौरपरसंबोधितकिया।

कर्मचारीनेताओंनेकहाकिकेंद्रसरकारबिजलीबिल2021कोसंसदमेंपासकरवानेकेलिएलेकरआरहीहै,जिसकेलिएपूरेभारतकाबिजलीकर्मचारीदसअगस्तकोहड़तालपरजानेकेलिएतैयारथा,लेकिनएनओसीसीईईएफआईकेसाथबैठकमेंऊर्जामंत्रीनेआश्वस्तकियाहैकिवेअभीबिजलीबिल2021कोसंसदमेंनहींलेकरआरहे।इसकेबारदेशभरमेंदसअगस्तकीहड़तालकोस्थगितकरकेसुबहबिजलीबिलकेविरोधमेंएकघंटेकाप्रदर्शनकियागया।कर्मचारीनेताओंनेकहाकिकेंद्रसरकारनेजिसतरहसेरेलवे,बीएसएनएल,एयरपोर्टआदिकोनिजीहाथोंमेंसौंपदियाहै,उसीतरहबिजलीकंपनियोंकोभीनिजीहाथोंमेंसौंपनाचाहतीहैऔरबड़ेपूंजीपतिघरानोंकोदेनाचाहतीहै।इससेट्यूबवैलकनेक्शनोंपरमिलनेवालीसब्सिडीखत्महोजाएगीवमनमानेरेटपरबिजलीकेदामबढ़ाएजाएंगे।इससेदेशकीगरीबजनता,मजदूर,किसानोंकेलिएबिजलीकाकनेक्शनलेनाबहुतदूरहोजाएगा।उन्होंनेलोगोंसेअपीलकीकिऊर्जाक्षेत्रकोबचानेकेलिएसभीएकजुटहोकरइसआंदोलनमेंआहूतिडालनेकाकामकरें।गेटमीटिगकोसबयूनिटनेतालीलूराम,राममेहर,भूपेंद्रगोयत,सुरेंद्र,भगतसिंहबागोरिया,कमलपूनिया,सतीशवसंतलालनेभीसंबोधितकिया।