• Home
  • बिहार में शुरू होगी नई साक्षरता योजना, इंटरनेट मीडिया का होगा इस्‍तेमाल; स्‍कूली बच्‍चों को बड़ा जिम्‍मा

बिहार में शुरू होगी नई साक्षरता योजना, इंटरनेट मीडिया का होगा इस्‍तेमाल; स्‍कूली बच्‍चों को बड़ा जिम्‍मा

दीनानाथसाहनी,पटना। बिहारमेंसाक्षरताकीनईयोजनाशुरूहोनेजारहीहै।'नवभारतसाक्षरताकार्यक्रम'नामकयहयोजनाकेंद्रप्रायोजितहै।इसकेतहतचालूवित्तीयवर्षमें15वर्षऔरउससेअधिकउम्रकेनौलाख40हजारकोसाक्षरबनानेकालक्ष्यहै।योजनामेंपांचवींऔरउससेऊपरकीकक्षाओंकेछात्रअपनेपरिवारकेनिरक्षरसदस्योंकोपढ़ाएंगे।टीचर्सट्रेनिंगकालेजोंकेछात्रभीतीनसेचारनिरक्षरोंकोप्रतिवर्षसाक्षरकरेंगे।इसयोजनाकेक्रियान्वयनकोलेकरसभी38जिलोंमेंएक-एकनोडलअफसरोंकोअहमजिम्मेदारीदीगईहै।

आनलाइनमोडमेंलागूहोगीयोजना

कार्ययोजनाकेमुताबिकयोजनाकेकार्यान्वयनकेलिएस्कूलइकाईहोगा।पूरीयोजनाआनलाइनमोडमेंलागूहोगी।स्वयंसेवकोंकेप्रशिक्षण,कार्यशालाएंआमने-सामनेमोडमेंहोंगी।सभीसामग्रीऔरसंसाधननिबंधितस्वयंसेवकोंकोडिजिटलमोडजैसे-टीवी,रेडियो,सेलफोनआधारितओपेन-सोर्सएप-पोर्टलआदिकेमाध्यमसेउपलब्धहोंगे।

योजनाकेसंचालनहेतुस्कूलोंऔरउच्चशिक्षासंस्थानोंमेंआइसीटीएवंअन्यबुनियादीढांचेसामान्यसेवाकेंद्रों(सीएससी),सामुदायिककेंद्रोंकाउपयोगहोगा।नेहरूयुवाकेंद्र,राष्ट्रीयसेवायोजना(एनएसएस)एवंनेशनलकैडेटकोर(एनसीसी)केस्वयंसेवक-कैडेट,सीएसओसमुदाय,गृहिणियों,आंगनबाड़ीकार्यकर्ताओंएवंशिक्षकोंकोस्वयंसेवककेरूपमेंप्रोत्साहितकरनिरक्षरोंकोसाक्षरबनायाजाएगा।

इंटरनेटमीडियाकाभीहोगाइस्तेमाल

फेसबुक,ट्विटर,इंस्ट्राग्राम,वाट्स-एप,यू-ट्यूब,टीवीचैनल,रेडियोजैसेइंटरनेटमीडियाप्लेटफार्मसहितसभीप्रकारकेमीडिया-इलेक्ट्रानिक,प्रिंट,लोकएवंइंटरपर्सनलप्लेटफार्मकेउपयोगसेनिरक्षरोंकोसाक्षरकियाजाएगा।कोईभीनिरक्षरआनलाइनटीचिंग,लर्निंगएंडअसेसमेंटसिस्टमकेमाध्यमसेकिसीभीस्थानपरसीधेपंजीकरणकरासकतेहैंऔरयोजनाकालाभउठासकेंगे।

निरक्षरोंकोडिजिटलसाक्षरता,वित्तीयसाक्षरता,कानूनीसाक्षरता,आपदाप्रबंधन,कौशल,बालदेखभालऔरपोषण,स्वास्थ्यऔरस्वच्छतासाक्षरता,परिवारकल्याणकेमुद्दे,व्यायाम,योग,तंबाकूकाउपयोगबंदकरना,प्राथमिकचिकित्सादेखभाल,सड़कयातायातदुर्घटनाआदिकेबारेजागरूककियाजाएगा।

शिक्षाविभागकेअपरमुख्यसचिवसंजयकुमारनेकहाकि साक्षरताकीनईयोजनाइसीमाहसेलागूकरनेकीतैयारीहै।इसकेलिएकार्ययोजनाबनगईहैऔरउसपरशिक्षामंत्रीविजयकुमारचौधरीसेस्वीकृतिभीलेलीगईहै।योजनाकेक्रियान्वयनपरखर्चहोनेवालीकुलराशिमें60प्रतिशतकेंद्रसरकारऔर40प्रतिशतराज्यसरकारव्ययकरेगी।