• Home
  • भाजपा का सामाजिक न्याय का पूरा होता एजेंडा, गरीबों को शत प्रतिशत मिल रहा योजनाओं का लाभ

भाजपा का सामाजिक न्याय का पूरा होता एजेंडा, गरीबों को शत प्रतिशत मिल रहा योजनाओं का लाभ

ऋतुराजसिन्हा।भाजपानेअपने42वेंस्थापनादिवसकेअवसरपरसातसे20अप्रैलतकसामाजिकन्यायपखवाड़ेकाआयोजनकिया।इसदौरानपार्टीनेगरीबोंकेलिएचलरहीसरकारकीयोजनाओंकेप्रतिदेशवासियोंकोजागरूककिया।यहपखवाड़ाबाबासाहबडा.भीमरावआंबेडकर,ज्योतिबाफुलेकोभीसमर्पितथा,जिन्होंनेसामाजिकन्यायकोअपनेजीवनमेंसर्वोच्चप्राथमिकतादी।प्रधानमंत्रीमोदीनेइनमहापुरुषोंकेसामाजिकन्यायकेमंत्रकोअपनीसुशासनकीराजनीतिकामहत्वपूर्णउपकरणबनादियाहै।लोकतंत्रमेंसरकारेंआती-जातीरहतीहैं,लेकिनव्यक्तिकोस्वावलंबीऔरराष्ट्रकोआत्मनिर्भरबनानेकीनीतिही'राष्ट्रनीति'बनजातीहै।इसीकारणहालमेंउसेचारराज्योंमेंजीतमिली।

भाजपाकीनीति,नीयतपरजनताकाभरोसाबढ़ाहैतोउसकीबड़ीवजहहै-गरीबसमर्थकऔरसक्रियशासन।केंद्रसेलेकरदेशभरमेंजहां-जहांभाजपाकीसरकारेंहैं,वहांयोजनाओंकीडिलिवरीकासिस्टमबेहतरहुआहै।आयुष्मानभारतजैसीविश्वकीसबसेबड़ीस्वास्थ्ययोजनानेगरीबोंकीजेबपरइलाजऔरदवाइयोंकेभारी-भरकमबोझकोकमकियाहै।17करोड़सेज्यादाआयुष्मानभारतकार्डआजउसगरीबऔरवंचिततबकेकासंबलबनेहैं,जिनकेसामनेअक्सरयहप्रश्नखड़ारहताथाकिअगरबीमारपड़गएतोइलाजकापैसाकहांसेआएगा?सबकोपक्कामकानमिले,इसदिशामेंजाति-मजहबसेहटकरसभीवर्गोंतकमोदीसरकारनेक्रांतिकारीपहलकी।आजपीएमआवासयोजनाकेअंतर्गततीनकरोड़सेअधिकमकानबनाएजाचुकेहैं।इसीतरहजलजीवनमिशनदेशकेविकासकोनईगतिदेरहाहै।आजादीके70वर्षोंमेंदेशकेसिर्फतीनकरोड़घरोंमेंनलकनेक्शनथा,इससेदोगुनेसेज्यादाकनेक्शनसिर्फतीनवर्षोंमेंहीलगाएजाचुकेहैं।किसानोंकोलेकरदशकोंसेसिर्फबातेंहोतीरहीं।

संप्रगसरकारकेकरीब52हजारकरोड़रुपयेकीकर्जमाफीकीयोजनाकाखूबढिंढोरापीटागया,जोकागजोंतकहीसीमितरही,लेकिनमोदीसरकारनेबीतेकुछवर्षोंमेंही11करोड़सेअधिककिसानोंकेबैंकखातेमेंसीधेपौनेदोलाखकरोड़रुपयेसेअधिककीराशिपहुंचाकरअन्नदाताओंकोसम्मानऔरसहारादियाहै।छात्रवृत्तिसेलेकरस्टैंडअपइंडियाजैसीयोजनाओंनेसमाजकेवंचितवर्गोंकेछात्रोंऔरमहिलाओंकोएकनईपहचानदीहै।अबतक1.34लाखलोगस्टैैंडअपइंडियायोजनाकालाभउठाचुकेहैं।इसमें81प्रतिशतसेअधिकमहिलाएंहैं।यहउद्यमिताकेमाध्यमसेआर्थिकसशक्तीकरणएवंरोजगारसृजनकाउदाहरणबनकरउभरीहै।मुद्रायोजनाकेजरियेभीअबतक34करोड़सेज्यादालोगोंकोलोनस्वीकृतकिएजाचुकेहैं।इनमें70प्रतिशतसेअधिकमहिलाएं,50प्रतिशतसेअधिकअनुसूचितजातिएवंजनजाति,पिछड़ेवर्गऔरवंचितसमाजकेलोगहैं।

समाजकेअंतिमछोरकेव्यक्तितकलाभपहुंचानेकेविजनकोआपपीएमस्वनिधियोजनाकेउदाहरणसेभीसमझसकतेहैं।कोविडकेवक्तजबरेहड़ी-पटरीवालोंकीआजीविकापरसंकटआयातोइसीयोजनानेउन्हेंसहारादिया।इसकालाभलेनेवालोंमें41प्रतिशतसंख्यामहिलाओंकीहैतोपिछड़ेवर्गके51औरअनुसूचितजाति/जनजातिवर्गके22फीसदलोगइसकेलाभार्थियोंमेंशामिलहैं।कोविडकालमेंदोसौकरोड़वैक्सीनकीडोजलगानेकेआंकड़ेतकपहुंचताभारतआजदुनियामेंअपनीसामर्थ्यदिखारहाहैऔरगरीबसेगरीबव्यक्तितकमुफ्तसुरक्षाकवचपहुंचारहाहै।इसीमहामारीकेदौरमेंशुरूपीएमगरीबकल्याणअन्नयोजनानेगरीबोंकोबड़ासहारादियाहै।अंतरराष्ट्रीयमुद्राकोषइसप्रयासकीखुलेदिलसेसराहनाकररहाहै।इसीतरहविश्वबैैंकनेभीमानाहैकिभारतमेंग्रामीणक्षेत्रोंमें2011मेंजोगरीबी26.3फीसदथी,वह2019मेंघटकर11.6फीसदरहगई।इसीअवधिमेंशहरीक्षेत्रोंमेंगरीबी7.9फीसदघटी।

आजादीकेछह-सातदशकोंतक50प्रतिशतसेज्यादाआबादीबैंकिंगसिस्टमसेदूरथी,लेकिनजन-धनजैसीयोजनासेआजहरनागरिकबैंकिंगप्रणालीसेजुडऩेलगाहैऔरकिसीतरहकेभ्रष्टाचारकेबिनाकेंद्रसरकारकीयोजनाओंकाशत-प्रतिशतलाभउठानेमेंसमर्थहुआहै।स्वच्छताअभियानहोयापोषणकामिशन,अबयहआंदोलनबनचुकाहै।कौनसोचसकताहैकिकोईप्रधानमंत्रीलालकिलेसेस्वच्छतायासामाजिकवर्जनाओंकोतोड़तेहुएसैनिटरीपैडकीबातकरेगा।आजभारतअपनीआजादीकाअमृतमहोत्सवमनारहाहै।इसकेजरियेप्रधानमंत्रीआजादीकेआंदोलनमेंयोगदानदेनेवालेसमाजकेउनमहापुरुषोंकोभीसम्मानदिलारहेहैैं,जिन्हेंचंदपरिवारोंतकसमेटकररखागयाथा।साफहैइतिहासकासहीमायनोंमेंलोकतांत्रिकबनानेकीपहलप्रधानमंत्रीमोदीनेहीकीहै।

नि:संदेहभाजपाकीस्पष्टनीतिऔरनीयतसेकिएजानेवालेकामोंकीवजहसेउसेजनताकाभरपूरआशीर्वादमिलरहाहै।आजदलितों,पिछड़ों,आदिवासियों,किसानों,नौजवानोंकेसाथ-साथमहिलाएंभाजपाकेपक्षमेंमजबूतीसेखड़ीहुईहैं,जोएकनएयुगकीताकतकाप्रतिबिंबहै।आजादीकेअमृतवर्षमेंशुरूहुईस्वर्णिमवर्ष(2047)कीअमृतयात्राकालक्ष्यविराटहै,क्योंकिअबजनकल्याणकीहरयोजनाओंकोशत-प्रतिशतलोगोंतकपहुंचानाहै।इसकेनिहितार्थस्पष्टहैं।जाति-मजहबनहीं,बल्किसमाजकेसभीवर्गोंकासमानविकासऔरआखिरीव्यक्तितकसरकारीलाभकोपहुंचानाहै।आजऐसेनएभारतकानिर्माणहोरहाहै,जहां'सबकासाथ,सबकाविकास,सबकाविश्वासऔरसबकाप्रयास'हीआधारस्तंभहै।

(लेखकलोकनीतिविश्लेषकहैैं)