• Home
  • बारिश से सड़कों के गड्ढ़ों में भरा पानी

बारिश से सड़कों के गड्ढ़ों में भरा पानी

संवादसूत्र,रामपुराफूल:सोमवारकोदिनभररुक-रुककरहुईबारिशकेकारणतापमानमेंगिरावटआनेनेयहाँलोगोंकोअपनेघरोंमेंदुबकेरहनेकोमजबूरकरदिया।वहींलोहड़ीकात्योहारहोनेकेबावजूदबाजारोंसेरौनकगायबरही।सबसेज्यादापरेशानीशहरकीविभिन्नसड़कोंपरपड़ेगड्ढोंमेंबारिशकापानीभरनेसेहुई।एकदिनकीबारिशनेनगरकौंसिलकेदावोंकीपोलखोलदी।सोमवारसुबहदसबजेकेकरीबशुरुहुईबारिशशामतीनबजेतकरुक-रुककरजारीरही।बारिशकेबीचहल्कीओलावृष्टिभीहुई।दिनभरहुईबारिशनेरेवड़ी-गच्चकआदिकेदुकानदारोंकोकाफीनिराशकिया।उनकीउम्मीदोंकेउलटआजबाजारोंमेंग्राहकीकाफीकमरही।दुकानदारोंद्वारासोमवारसुबहअपनीदुकानोंकेबाहरलगाएगएमूंगफली,रेवड़ीइत्यादिकेस्टालभीबारिशकेकारणउठानेपड़े।उधरबारिशकेकारणशहरकीसड़कोंपरपड़ेगड्ढोंमेंपानीभरगया।इससेराहगीरोंविशेषकरवाहनचालकोंकोअपनेगंतव्यतकपहुंचनेमेंकाफीपरेशानीहुई।स्थानीयफैक्ट्रीरोड,रेलवेरोड,बसस्टैंडरोड,बैंकबाजारसहितविभिन्नबाजारोंमेंपड़ेगढढोंमेंभरेपानीमेंगिरकरवाहनचालकोंकेचोटिलहोनेकाखतराबनारहा।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!