• Home
  • बारिश ने बढ़ाई गलन, अब शीतलहरी के आसार

बारिश ने बढ़ाई गलन, अब शीतलहरी के आसार

जागरणसंवाददाता,सोनभद्र:सोनांचलमेंतीनदिनोंसेरुक-रुककरहोरहीबेमौसमबारिशसेठंडमेंतेजीसेइजाफाहुआहै।नगरकेसाथहीग्रामीणक्षेत्रोंकीसड़कोंपरकीचड़फैलजानेसेलोगोंकोपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।नगरनिकायोंवजिलाप्रशासनकीतरफसेअभीतकसार्वजनिकजगहोंपरअलावकीव्यवस्थानहोनेसेसबसेअधिकगरीबोंकोदिक्कतेंउठानीपड़रहीहै।किसानोंकीखेतमेंपड़ीधानकीफसलोंमेंपानीभरजानेसेउनकेखराबहोनेकाडरसतानेलगाहै।

दिसंबरमहीनेकेदूसरेसप्ताहमेंठंडनेअपनाविकरालरूपदिखानाशुरूकरदियाहै।जिलेमेंपिछलेतीनदिनोंसेमौसमखराबहोनेसेजहांएकओरहरतरफजलजमावकीस्थितिपैदाहोगईहैवहींदूसरीओरपारागिरनेसेठंडमेंइजाफाहोगयाहै।रविवारकोपारा10डिग्रीकेआसपासहोगया।गलनकेकारणदोपहरकेवक्तभीबाजारोंमेंसन्नाटापसरारहा।मौसमसेजुड़ेजानकारोंनेबतायाकिपछुआहवाकेबहनेसेसर्दहवाओंनेठंडककाएहसासकरायाहै।बतायाकिपश्चिमीविक्षोभकेकारणहीबारिशहोरहीहै।बेमौसमबारिशहोनेसेकिसानोंकोकाफीनुकसानउठानापड़रहाहै।क्रयकेन्द्रोंपरअलावकीव्यवस्थानहोनेसेकिसानठिठुरनेकेलिएविवशहैं।किसीतरहसेलकड़ीवपुआलकीव्यवस्थाकरठंडदूरकरनेकाप्रयासकररहेहैं।जिलाप्रशासनकीरवैयासेकिसानोंमेंआक्रोशदेखाजारहाहै।जल-जमाववकीचड़नेबढ़ाईसमस्या

सोनांचलमेंपिछलेतीनदिनोंसेमौसमखराबहोनेसेनगरकेसाथहीग्रामीणक्षेत्रोंकीसड़कोंपरजल-जमाववकीचड़फैलनेसेलोगोंकोपरेशानीउठानीपड़ी।रविवारकीरातसेहीरुक-रुककरहोरहीबारिशसेहरतरफजलजमावहोगयाहै।जहांएकओरगेहूंकेलिएबारिशअच्छीहैतोवहींखेतोंमेंपड़ेधानकीफसलोंकेलिएनुकसानदेहभीहै।नगरमेंपानीनिकासीकीसंपूर्णव्यवस्थानहोनेकेकारणहरतरफकीचड़वजलजमावहोगयाहै।सड़कपरकीचड़केहालातयहहैंकिउसपरचलनाभीदूभरहोगयाथा।सोनभद्ररेलवेस्टेशनजानीवालेमार्गपरनालीकानिर्माणअधूराछोड़देनेसेउसकीमिट्टीसड़कोंपरआजानेसेकीचड़फैलगयाहै।इसीतरहसिविललाइनरोड,सर्विसरोड,बढ़ौलीचौकसेमेनमार्केटजानीवालीसड़कसमेतअन्यसड़कोंपरकीचड़फैलगयाहै।अलावकाकररहेइंतजार

बारिशहोनेकेबादमौसमखराबहोनेसेठंडनेअपनारंगदिखानाशुरूकरदियाहैलेकिन,जिलाप्रशासनवनगरनिकायोंकीतरफसेअभीतकअलावकाइंतजामनहींकियागयाहै।इससेसबसेअधिकपरेशानीदिहाड़ीमजदूरीकरनेवालोंहोरहीहै।अभीतकसार्वजनिकजगहोंपरअलावनहींजलाएजानेसेऐसेलोगोंकोकाफीदिक्कतोंकासामनाकरनापड़रहाहै।ग्रामीणअंचलोंमेंजरूरतमंदोंकीबढ़ींमुश्किलें

गुरमा:सदरविकासखंडकेअंतर्गतगुरुवारकीरातसेरिमझिमबारिशनेपहाड़ीग्रामीणअंचलोंमेंनिवासकरनेवालोंगरीबोंकीमुश्किलेंबढ़ादीहै।ठिठुरनबढ़नेसेलोगघरोंमेंछिपेरहनेकोविवशहोगये।क्षेत्रमेंअभीतककहींभीअलाववकंबलकावितरणतकनहींकियागयाहै।बारिशकेबादमारकुंडी,केवटा,रजधन,बलुईभुईहरिया,सातनंबर,मकरीबारी,बेलछ,रुदौलीआदिपहाड़ीग्रामीणअंचलोंमेंगलनकेकारणलोगघरोंमेंदुबकेरहरहेहैं।दिनभरगलनसेगरीबमजदूरोंकेकामकाजपरभीप्रतिकूलअसरपड़ाहै।गरीबपरिवारठंडमेंकमकपड़ेकेअभावमेंआगकेसहारेरातव्यतीतकरलेतेथेलेकिन,बरसातनेउनकीलकड़ियांभीभिगोदिया।ठिठुरनमेंगरीबपरिवारकिसीतरहजीवनबितानेकेलिएविवशहोगयेहैं।ग्रामीणोंनेजिलाधिकारीकाध्यानआकृष्टकरातेहुएअलावकेसाथकंबलवितरणकरानेकीमांगकीहै।