• Home
  • बाल-गोपाल चाहें स्नेह की छांव, खो न जाएं ये तारे जमीं पर

बाल-गोपाल चाहें स्नेह की छांव, खो न जाएं ये तारे जमीं पर

सोहमप्रकाश,इटावादेखोइन्हेंयेहैंओसकीबूंदें

पत्तोंकीगोदमेंआसमांसेकूदें

अंगड़ाईलेंफिरकरवटबदलकर

नाजुकसेमोतीहंसदेंफिसलकर

खोनजाएंये,तारेजमींपरबालमनपरकेंद्रित'तारेजमीनपर'फिल्मकेटाइटलसांगकेयेबोलकोरोनाकालमेंमाता-पिताकोखोनेवालेबाल-गोपालकीभीमौनअभिव्यक्तिहैं।उप्रमुख्यमंत्रीबालसेवायोजनाकाएकमूलउद्देश्यवक्तकेमारेऐसेबच्चोंकोगलतहाथोंमेंजानेसेरोकनाहै।योजनासेउनकेआर्थिक-शैक्षिकव्यवस्थाकाइंतजामकीशुरुआतहोचुकीहै।अबउनकोमानसिकसंबलऔरस्नेहकीजरूरतहै।समाजसेवीसंगठनोंकीतरफसेमिलनेवालीमददऔरउनकेसंकल्पबद्धकदमोंकीआहटकाइंतजारहै।दरअसलअबोधभविष्यऔरमेधाकोसरकारीयोजनाओंकीइमदादकेभरोसेछोड़देनानाकाफीहै।एकदशकमेंस्थापितन

होसकाखुलाआश्रयगृह

कोरोनाकालमेंस्वैच्छिकसंगठनोंकोउसदिशामेंभीकदमबढ़ानेकीआवश्यकतामहसूसकीजारहीहै,जिसमेंउनकीभूमिकाकेबिनाकुछयोजनाओंकीजनपदमेंशुरुआतहीनहींहोसकी।समेकितबालसंरक्षणयोजनाकेतहतएकदशकमेंखुलाआश्रयगृहकीस्थापनानहोनेसेलखनऊवकानपुरपरनिर्भरताहै।दरअसलइसकेलिएस्वैच्छिकसंगठनकीतरफसेआवेदननहींआए।देखभालवसंरक्षणकीआवश्यकतावालेसभीबच्चोंमेंविशेषरूपसेभिखारियों,आवाराकूड़ाबीननेवाले,घूम-घूमकरतमाशादिखानेवालेअनाथबच्चोंकेलिए25बच्चोंकीक्षमतावालाखुलाआश्रयगृहखोलाजानाथा।

इसीप्रकारप्रत्येकजनपदमेंउपेक्षित,निराश्रितशिशुओंकेलिएपालन-पोषण,देखभालसहायतातथासंवेदनहीनपरिवारमेंदत्तकग्रहणकोबढ़ावादेनेकेलिएविशेषज्ञदत्तकग्रहणअभिकरणकीस्थापनाकीजानीथी।इसकासंचालनजनपदस्तरपरप्रतिष्ठितस्वैच्छिकसंगठनोंद्वाराकियाजानाथा।स्वैच्छिकसंगठनोंकाचयनकरप्रस्तावकाअग्रसारणकरनेकाकार्यजिलाबालसंरक्षणसमितिकरती।लेकिनयहांएकभीप्रस्तावनहींआया।ऐसीस्थितिमेंलखनऊऔरकानपुरपरनिर्भरतारहतीहै।

चाइल्डलाइनखोलेजानेकीजरूरत

चाइल्डलाइन-1098खोलेजानेकीआवश्यकताजतातेहुएशासनकोविभागकीतरफसेप्रस्तावभेजागयाहै।स्वीकृतिकीप्रतीक्षाहै।इसकोस्वैच्छिकसंगठनसंचालितकरेगा।इसीप्रकारमानसिकवशारीरिकरूपसेअविकसिततथाएचआईवीसेपीड़ितबच्चोंकेलिएउनकीविशेषआवश्यकताओंके²ष्टिगतसंस्थामें10बच्चोंकीविशेषीकृतयूनिटकीस्थापनाकेलिएभीप्रस्तावशासनकोगयाहै।नईबालकल्याणसमितिगठित

समेकितबालसंरक्षणयोजनाकेतहतकार्यकरनेकेलिएनईबालकल्याणसमितिकागठनकियागयाहै।इसमेंअध्यक्षदीपनरायणशुक्ला,सदस्यरेखागुप्ता,संजयकुमारकुलश्रेष्ठ,डा.शैलेंद्रशर्मा,राजेंद्रसिंहहैं।यहसमितिअगस्तसेसक्रियहोजाएगी।योजनापरकार्यकरनेकेलिएभवनकानिर्माणकचौरारोडसरायऐसरमेंकियागयाहै।कार्यकरनेकेलिएकार्यक्रमप्रबंधक,परियोजनाअधिकारी,प्रशासनिकअधिकारी,लेखाधिकारी,लेखाकार,सहकंप्यूटरप्रचालनकीनियुक्तिसंविदापरकीगईहै।किशोरन्यायबोर्डकागठनकियागयाहै।वर्तमानमेंबोर्डमेंजुडीशियलसेप्रधानमजिस्ट्रेटकेसाथदोसदस्योंमेंडा.दीपकदीक्षितऔरसुनीताहैं।विशेषगृहमेंकिशोरोंकोस्वावलंबनकाप्रशिक्षण

कचौरारोडपरसरायऐसरस्थितराजकीयविशेषगृह(किशोर)मेंविभिन्नगंभीरअपराधोंमेंबंदअंडरट्रायलवसजायाफ्ताकिशोरोंकोकौशलविकासयोजनासेस्वावलंबीबनानेकेलिएप्रशिक्षणदियाजाताहै।व्यावसायिकप्रशिक्षणकेतहतकाष्ठकला,अगरबत्तीबनाना,क्राफ्टिग,कुर्सीआदिबुननेमेंदक्षकियाजाताहै।प्रशिक्षणदेनेकेपीछेसरकारकीमंशायहहोतीहैकिसजापूरीहोनेकेबादकिशोरयहांसेनिकलेतोवहआत्मनिर्भरबनसके।भरण-पोषणकेलिएअपनाव्यवसायशुरूकरसके।भलेहीजाने-अनजानेमेंकोईअपराधहोगयाहोवेसजाभुगतरहेहों,लेकिनउनकोयहांजिदगीकासबकसिखायाजाताहै।

राजकीयविशेषगृह(किशोर)मेंबीएसएकीतरफसेअंडरट्रायलऔरअपचारी(सजायाफ्ता)दोनोंप्रकारकेकिशोरोंकोप्राथमिकशिक्षाकेलिएदोशिक्षकोंकीव्यवस्थाकीगईहै।वर्तमानमेंबंदअपचारीचारबच्चेचौथीवपांचवींदर्जाकीशिक्षाग्रहणकररहेहैं।

सोहनगुप्ता,बालसंरक्षणअधिकारी