• Home
  • आंख-मिचौली खेलती बिजली, उपभोक्ता परेशान

आंख-मिचौली खेलती बिजली, उपभोक्ता परेशान

जागरणसंवाददाता,औरैया:

कोरोनावायरससंक्रमणकेबचावमेंलोगोंकोअपनेघरोंमेंहीरहनेकाआग्रहबराबरकियाजारहाहै।लेकिननियमोंकेअनुपालनमेंबिजलीआपूर्तिमुश्किलेंबढ़ारहीहै।इसकेअलावाभीआनलाइनकार्योंमेंभीलोवोल्टेज,ट्रिपिगआदिसेपरेशानीउठानीपड़रहीहै।सप्ताहमेंदोदिनबाजारबंदरहताहै।शेषबचेपांचदिनोंमेंसमयसेआपूर्तिनहोनालोगोंकोपरेशानकरतीहै।आएदिनफाल्टआदिसमस्याएंपरेशानीकाकारणबनीहुईहैं।जबकिबिजलीबच्चोंसेलेकरबुजुर्गोंकेजीवनकाहिस्साबनगईहै।बिनाइसकेघरोंकीदिनचर्याभीअधूरीरहतीहै।लोगोंनेबयांकियाक्याकहतेहैंलोग

बिजलीकाआलमहैकिकोईसमयनिश्चितनहींहै,कबआएगी,कबचलीजाएगी।कोईपतानहींरहता।कभीवोल्टेजहीनहींमिलते।इन्वर्टरघंटादोघंटेमेंहीधोखादेजाताहै।ऐसेमेंदिनकाचैनवरातमेंनींदहरामहै।जबकिबिजलीपरहीदिनचर्यानिर्भरहै।

-अंशुमनउपाध्यायज्यादातरलोगबिजलीकीआपूर्तिपरहीनिर्भरहैं।एकाधघरोंमेंइन्वर्टरकीसुविधारहतीहै।रोस्टरकेहिसाबसेलाइटउपलब्धनहींरहतीहै।दोदिनकीबाजारबंदीमेंघरोंमेंरहनामुश्किलहोजाताहै।बरसातकेउमसभरेमौसममेंयदिआधाघंटेआपूर्तिठपहोजाएतोबाहरकारास्ताहीदिखाईपड़ताहै।

-शशांकत्रिपाठी-इससमयआनलाइनक्लासिसचलरहेहैं।बिजलीकाअसमयआनाजानाबेहदकठिनाईउत्पन्नकररहाहै।बच्चोंकेमोबाइलचार्जनहींहोपातेजिससेउन्हेंक्लासिसअटेंडकरनेमेंदिक्कतआतीहै।

-गिरीशचंद्रचतुर्वेदीबिजलीकीआंखमिचौलीमार्केटकाकामभीबाधितरहताहैं।दुकानपरपताचलाकिग्राहकखड़ाहै,बिजलीनहींतोउसकाकामनहींहोपाता।चूंकिमैकैनिककासभीकार्यबिजलीपरहीनिर्भरहै।इसलिएकभीलोवोल्टेज,कभीघंटोकाइंतजारमुसीबतबनाहै।

क्याकहतेहैजिम्मेदारगर्मीमेंबिजलीकाभारबढ़जाताहै।इसलिएट्रिपिगवफेसमेंफाल्टआदिकीसंभावनाएंबढ़जातीहैं।औरैया-2कखावतूउपकेंद्रपर10किलोवाटकाट्रांसफार्मररखवादियागयाहै।

-एसडीओदेवीसिंह

उपभोक्ताओंसेआग्रहहैकिगर्मीमेंविद्युतभारबढ़ताहै।ऐसेमेंवहआवश्यकताकेअनुसारहीबिजलीकाउपयोगकरें।क्षमतावृद्धिकीव्यवस्थाजरूरतकेहिसाबसेशीघ्रकराईजाएगी।

संतोषकुमार,अधिशासीअभियंता