• Home
  • 75 लाख का बिजली बिल देख आया पसीना

75 लाख का बिजली बिल देख आया पसीना

जागरणसंवाददाता,बहादुरगढ़:

बिजलीकेबिलोंमेंगड़बड़ीकासिलसिलाथमनहीरहाहै।जिनकेबिलहजारयादोहजारकेहोनेचाहिएउनकेबिलोंमें75लाखसेभीज्यादाराशिप्रिंटहोकरआरहीहै।बिलोंमेंइसगड़बड़ीकेकारणलोगपरेशानहैऔरअपनेकामकाजकोछोड़बिलठीककरानेकेलिएनिगमकीतरफदौड़रहेहै।

दरअसल,बिजलीनिगमकीओरसेइसबारबिलतैयारकरनेकेलिएनईएजेंसीकोटेंडरदियागयाहै,मगरसंबंधितएजेंसीजोबिलतैयारकररहीहै,उसेदेखतेहीलोगोंकीधड़कनबढ़जातीहै।इसकीवजहभीहै,क्योंकिबिलथोड़़ेबहुतकानहीबल्किकिसीका70लाख,किसीका78तोकिसीका76लाखकाआरहाहै।ऐसेमेंलोगपरेशानहै।

नईएजेंसीकाकार्यबनालोगोंकेलिएसिरदर्द:

हालहीमेंबिजलीनिगमकीओरसेबिलतैयारकरनेकेलिएनईएजेंसीकोहायरकियागयाहै।ऐसेमेंबिलोंमेंभारीस्तरपरगड़बड़ीसामनेआरहीहै।बिलअत्यधिकराशिकेप्रिंटहोकरआरहेहै।बिलोंकोदेखखुदबिलबाटनेवालेकर्मचारियोंकामाथाभीठनकरहाहै,लेकिनजोबिलउन्हेविभागकीतरफसेमिलेहैउनकावितरणकरनेकेअलावाउनकेपासभीकोईचारानहीं।बादमेंजबउपभोक्ताइनबिलोंकोदेखतेहैतोइन्हेठीककरानेकेलिएदौड़तेहै।शहरकेमाडौठीबाजारनिवासीमोहितनेबतायाकिउनकासामान्यबिलडेढ़सेदोहजारहीआताथा।इसबार75लाखआयाहै।इसेदेखतेहीवेहैरतमेंपड़गए।अबइसेठीककरानेकेलिएचक्करलगानेहोंगे।

नईएजेंसीकेकारणऐसाहोरहाहै।उपभोक्ताओंकेबिलोंकोठीककरनेकेलिएव्यवस्थाकीगईहै।लोगोंसेसहयोगकीअपीलकीजारहीहै।

--एसकेजैन,एक्सईएन,बिजलीनिगम।