• Home
  • 40 हजार पूर्व सैनिकों को चिकित्सकों का इंतजार

40 हजार पूर्व सैनिकों को चिकित्सकों का इंतजार

जागरणसंवाददाता,बागेश्वर:जिलामुख्यालयस्थितमंडलसेरामेंपूर्वसैनिकोंकोस्वास्थ्यसुविधादेनेकेलिएइसीएचएसकेंद्रखोलागया।लेकिनचिकित्सकोंकीभारीकमीसेपूर्वसैनिकोंकोखासीपरेशानीकासामनाकरनापड़रहाहैं।उन्होंनेइसीएचएसकेंद्रमेंचिकित्सकोंकीजल्दभर्तीकरनेकीमांगकीहै।

जिलामुख्यालयमेंइसीएचएसकाअपनाकेंद्रइसीवर्षबनकरतैयारहुआ।इसकामकसदथाकिपूर्वसैनिकोंवउनकेआश्रितोंकोबेहतरसुविधामिलसके।जिलेमें40हजारसेअधिकपूर्वसैनिकवउनकेआश्रितरहतेहैं।लेकिनचिकित्सकोंकेअभावमेंउन्हेंजिलाअस्पतालयादूरस्थक्षेत्रोंकेअस्पतालोंमेंहीइलाजकरानेकोमजबूरहोनापड़ताहैं।केंद्रमेंनतोविशेषज्ञचिकित्सकहैऔरनस्त्रीरोगविशेषज्ञ।केंद्रोंमेंचिकित्सकोंकेनहींहोनेसेउन्हेंबाहरकेकेंद्रोंमेंइलाजकोमजबूरहोनापड़ताहैं।

केंद्रमेंप्रतिदिनकरीब100सेअधिकओपीडीहोतीहैं।लेकिनकमसंसाधनोंमेंहीकेंद्रकासंचालनकियाजारहाहैं।पूर्वसैनिकआनंद¨सहकरायतनेबतायाकिजल्दचिकित्सकोंकीव्यवस्थाकीजाएताकिपूर्वसैनिकोंकोइसकालाभमिलसकें।

तीनएंबुलेंसकाप्रस्ताव

बागेश्वर:केंद्रमेंतीनएंबुलेंसकाप्रस्तावहैं।जोआपातकालमेंअपनीसेवाएंदेसकें।लेकिनअभीतकएंबुलेंसकेंद्रकेपासनहींहैं।जिससेदूरदराजसेअस्पतालमेंइलाजकरानेकोआनेवालेमरीजोंकोप्राइवेटटैक्सियोंमेंआनापड़ताहैं।

इसीएचएसमेंमिलतीहैजेनेरिकदवाएं

बागेश्वर:जहांएकओरराज्यसरकारजिलेमेंजेनेरिकदवाओंकाकेंद्रनहींखोलपाईहैवहींइसीएचएसकेंद्रपूर्वसैनिकोंकोयहसुविधादेरहाहैं।पूर्वसैनिकोंकोकेंद्रसेजेनेरिकदवाइयांमिलतीहैं।उन्हेंबाहरसेमहगीदवाएंनहींलेनीपड़तीहैं।

इसीएचएसकेंद्रमेंरिक्तपद

-विशेषज्ञचिकित्सक-1

-स्त्रीरोगविशेषज्ञ-1

-रेडियोलॉजिस्ट-1

चिकित्सकोंकेपदरिक्तहैं।इसकेलिएप्रस्तावबनाकरउच्चाधिकारियोंकोभेजदियागयाहैं।उन्होंनेकहाकिइसमेंएंबुलेंसकाभीप्रस्तावहैं।केंद्रकेलिएतीनएंबुलेंसआनीहैं।उन्होंनेकहाकिपूर्वसैनिकोंकोसुविधादेनेकेलिएलगातारप्रयासकिएजारहेहैं।जल्दहीयहसुविधाभीकीजाएगी।

-कर्नलदेवेंद्र¨सह,प्रभारीइसीएचएस,बागेश्वर