• Home
  • 37 स्कूलों में केंद्रीकृत रसोई घर से मिलने लगा भोजन, प्रधान को मिली राहत

37 स्कूलों में केंद्रीकृत रसोई घर से मिलने लगा भोजन, प्रधान को मिली राहत

फोटोफाइलनंबर-4एसयूपी-1,2

जागरणसंवाददाता,सुपौल:लंबेअरसेकेबादआखिरकारसोमवारसेनगरपरिषदक्षेत्रस्थित37विद्यालयोंकेप्रधानकोएमडीएमयोजनासेफुर्सतमिलगई।सोमवारसेशुरूकीगईइनविद्यालयोंमेंसेंटरफॉरनेशनलडेवलपमेंटइनिशिएटिवस्वयंसेवीसंस्थानकेमाध्यमसेएकीकृतरसोईघरसेपका-पकायाभोजनबच्चोंकोउपलब्धकराएजानेलगा।स्वयंसेवीसंस्थानकेमाध्यमसेसंचालितइसयोजनाकेपहलेदिनजहांएकीकृतरसोईघरकाजिलाकार्यक्रमपदाधिकारीमध्याह्नभोजनरजनीकांतप्रवीणसमेतयोजनासेजुड़ेकर्मियोंनेजायजालिया।वहींस्वयंसेवीसंस्थानकेकर्मीभीचौकसबनेहुएथे।इसदौरानडीपीओनेसंस्थानकेकर्मियोंकोकईनिर्देशजारीकरतेहुएकहाकिस्वच्छतापरविशेषरूपसेध्यानरखनेकीजरूरतहै।कहाकिविभागद्वाराकिएगएइकरारनामाकेदौरानदिएगएशर्तोकाहरहालमेंपालनकियाजानाहै।ताकिबच्चोंकेबीचनसिर्फसमयसेभोजनपरोसाजासके।बल्किबच्चोंकोताजाभोजनभीउपलब्धकरायाजासके।हालांकिपहलेदिनइनसभीविद्यालयोंमेंस्वयंसेवीसंस्थानोंद्वारा12बजेतकभोजनउपलब्धकरादियागयाथा।

भोजनपहुंचानेकेलिए4गाड़ियोंकाहोरहाइस्तेमाल

स्वयंसेवीसंस्थानकेसंचालकनेबतायाकिविद्यालयमेंभोजनपहुंचानेकेलिएफिलहाल4गाड़ियोंकोलगायागयाहै।भोजनमेंस्वच्छताबरकराररखनेकेसाथ-साथबच्चोंकोताजावस्वादिष्टभोजनउपलब्धकरानाउनकेमुख्यमकसदमेंशामिलहै।कहाकिजोभीकमीहैउसेहरहालमेंपूराकरलियाजाएगा।

येहैइकरारनामेकीशर्त

शर्तइकरारनामाकेतहतखानापरोसनेवालीस्वयंसेवीसंस्थानसेंटरफॉरनेशनलडेवलपमेंटइनीशिएटिवसंस्थाबच्चोंकोगरम-गरमखानाउपलब्धकराएगी।संस्थाकेकेंद्रीकृतरसोईघरसेखानाबनकरबच्चोंतक4घंटेकेअंदरपहुंचायाजाएगा।स्कूलतकखानापहुंचनेऔरबच्चोंकोपरोसनेकेसमयखानाकातापमानकमसेकम65डिग्रीसेल्सियसहोनाआवश्यकहोगा।खानाबनानेमेंइस्तेमालहोनेवालीसामग्रीजैसेदाल,नमक,मसाला,तेलआदिएगमार्ककंपनीकीहोगी।संस्थाखानाबनानेकेलिएकेंद्रीकृतरसोईघरकाइस्तेमालकरेगी।रसोईमेंसफाईपरविशेषध्यानदेनेकीबातइकरारनामेमेंकीगईहै।केंद्रीकृतरसोईघरसेस्कूलतकखानास्टेनलेसस्टीलकेबर्तनमेंबंदवाहनसेआपूर्तिकीजाएगी।

पूर्वकीतरहविद्यालयमेंकार्यरतरहेगीरसोईया

जिन-जिनविद्यालयोंमेंकेंद्रीकृतरसोईघरसेबच्चोंकोभोजनआपूर्तिकीजाएगीउनविद्यालयोंमेंकार्यरतरसोईयापूर्वकीतरहहीकार्यरतरहेगीएवंउनकेमानदेयकाभुगतानभीपूर्वकीतरहहीकियाजाएगा।परंतुयदिस्वयंसेवीसंस्थानचाहेतोजिनविद्यालयोंमेंसंस्थाकेद्वाराभोजनआपूर्तिकियाजाएगाउनविद्यालयोंसेरसोईयावसहायकरसोइयाकोप्रधानाध्यापकऔरविद्यालयशिक्षासमितिसेअनुमतिप्राप्तकरकेंद्रीकृतरसोईघरपरखाद्यान्नकेसाफ-सफाई,सब्जीकाटनेएवंअन्यकार्यकेलिएरखसकताहै।परंतुरसोईयावसहायकरसोईयाकेकार्यरतबलकाअधिकतम50प्रतिशतसंख्याहीकेंद्रीकृतरसोईघरपरप्रतिनियुक्तकियाजासकताहै।शेषरसोईयावसहायकविद्यालयमेंहीकार्यरतरहेगी।विद्यालयमेंकार्यरतरसोईयासहायकबच्चोंकोभोजनपरोसने,बर्तनधोनेइत्यादिकार्यकरेगी।जोरसोईयाकेंद्रीकृतरसोईघरपरकामकरतीहै,उनकाभुगतानमध्याह्नभोजनयोजनासमितिसेनहींकियाजाएगा।

शिक्षकोंमेंकहींदिखीखुशीतोकहींनिराशा

विभागद्वाराएनजीओकेहाथोंमेंएमडीएमयोजनासौंपजानेकेबादजहांकुछविद्यालयोंकेप्रधानोंकेबीचमायूसीदेखीगई।वहींकुछप्रधानइसबातकोलेकरखुशथेकिएकझंझटतोकमहुआ।दरअसलएमडीएमयोजनाकुछप्रधानोंकेलिएकमाईएकजरियासाबनगयाथा।मेनूकीबाततोदूरउपस्थितसेज्यादाउपस्थितिबच्चोंकादिखाकरइसयोजनाकीराशिउनकेद्वाराडकारलीजातीथी।वहींकुछऐसेप्रधानभीथेजोयोजनाकोझंझटसमझरहेथे।

पहलेदिनहीशर्तोकानहींकियागयापालन

एमडीएमयोजनाकोलेकरस्वयंसेवीसंस्थानसेकिएगएइकरारनामाकेमुताबिकबच्चोंकाभोजनजिसवाहनसेविद्यालयतकपहुंचानाहैवहवाहनपूराढकाहोनाचाहिए।परन्तुपहलेदिनऐसादेखनेकोनहींमिला।बच्चोंकाखानालेजानावालावाहनखुलापड़ाथा।ऐसेमेंशत-प्रतिशतगुणवत्तापरतोसवालउठनालाजिमीहै।