• Home
  • 15 दिनों के भीतर अपने घर भेजे जाएं प्रवासी मजदूर, केंद्र मुहैया करे ट्रेन की सुविधा: सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला

15 दिनों के भीतर अपने घर भेजे जाएं प्रवासी मजदूर, केंद्र मुहैया करे ट्रेन की सुविधा: सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला

नईदिल्ली,मालादीक्षित।प्रवासीमजदूरोंकेमामलेपरअहमफैसलालेतेहुएसुप्रीमकोर्टनेमंगलवारकोकेंद्रऔरराज्योंको15दिनकेभीतरउन्हेंउनकेघरवापसभेजनेकाइंतजामकरनेकाआदेशदियाहै।साथहीकोर्टनेकहाकिलॉकडाउनकाउल्लंघनकरनेवालेप्रवासीमजदूरोंकेखिलाफदर्जसभीमामलेआपदाप्रबंधनअधिनियम,2005केअंतर्गतवापसलेनेपरविचारकियाजाएगा। बतादेंकिकेंद्रवराज्योंनेइनप्रवासीमजदूरोंकीपहचानकरलिस्टतैयारकरलीहै।

कोर्टनेकेंद्रवराज्योंसेकहा,'प्रवासीमजदूरोंकेलिएरोजगारकीयोजनाएंलाईजाएंऔरउनकीकार्यकुशलताकाडाटातैयारकरें।उनकापंजीकरणकरनेकेसाथहीउनकेलिएलाईगईयोजनाओंकागांवऔरब्लॉकस्तरपरप्रचारकरेंताकिश्रमिकोंकोउसकीजानकारीहो।' इससेपहले5जूनकोकेंद्रनेसुप्रीमकोर्टकोबतायाथाकि3जूनतक4228ट्रेनोंसेकरीब1करोड़प्रवासीमजदूरपहुंचाएगए। उसदिनकोर्टनेअपनाफैसलासुरक्षितरखलियाथा।

जजअशोकभूषण,संजयकिशनकौलऔरएमआरशाहकीबेंचनेकेंद्रको24घंटोंकेभीतरअतिरिक्तट्रेनमुहैयाकरानेकानिर्देशदियाहै।बेंचनेप्राधिकारियोंकोघरवापसजानेवालेप्रवासीमजदूरोंकीपहचानकरनेवरजिस्टरकरानेकाभीआदेशदेदियाहै।इसकेलिएकोर्टने15दिनकासमयदियाहै।अबइसमामलेकीसुनवाईअगलेमाहकीजाएगी।

पिछलेमाहकी1तारीखसेश्रमिकएक्सप्रेसट्रेनेंचलनीशुरूहुईथीजिससेदेशकेविभिन्नइलाकोंमेंलॉकडाउनकेकारणफंसेविस्थापितप्रवासीमजदूरोंकोउनकेइच्छितगंतव्यतकपहुंचायाजासके।

नॉवेलकोरोनावायरसकेकारणदेशभरमेंजारीलॉकडाउनकासबसेअधिकप्रभावप्रवासीमजदूरोंकेवर्गपरहीहुआहै।अपनेपैतृकनिवाससेदूरदूसरेराज्योंमेंकामकरनेवालेयेमजदूरफैक्ट्रियोंकेबंदहोनेसेखानेकेमोहताजहोगएऔरइसलिएइन्होंनेपैदलहीअपनेघरोंकीओरचलपड़े।